ट्विटर के CEO का यू-टर्न, संसदीय समिति के सामने पेश होने को तैयार

नई दिल्‍ली। ट्विटर के CEO ने पहले संसदीय समिति के सामने पेश होने से इंकार के बाद अब यू-टर्न लिया है। ट्विटर की ओर से जारी बयान में कहा कि CEO जैक डार्सी मीटिंग के लिए तैयार हैं। मीटिंग की यह तारीख दोनों पक्ष आपसी सहमति से तय कर सकते हैं। फेक न्यूज़ और पक्षधरता पर ट्विटर के वरिष्ठ अधिकारियों को पेश होने कहा गया था।
लोकसभा सांसद अनुराग ठाकुर की अध्यक्षता वाली संसदीय समिति ने ट्विटर CEO और कुछ सीनियर अधिकारियों को समन भेजा था। शनिवार को भारत आने से इंकार के बाद CEO ने अब यू-टर्न ले लिया है। अब ट्विटर की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि CEO जैक डार्सी भारत की संसदीय समिति से मिलने के लिए तैयार हैं। दोनों पक्षों की सहमति के साथ किसी तारीख को मिलने के लिए लिए तय की जाए। ट्विटर ने कहा कि डार्सी परिचर्चा से इनकार नहीं कर रहे हैं।
ट्विटर CEO का यह जवाब ऐसे वक्त में आया है जब संसदीय समिति ने CEO को 10 दिन का समय दिया था। फेक न्यूज़ और राजनीतिक पक्षधरता तथा गोपनीयता के मुद्दों पर चर्चा के लिए संसदीय समिति ने ट्विटर के टॉप अधिकारियों को मिलने के लिए बुलाया था। मीटिंग की यह डेट 7 फरवरी से बदलकर 11 फरवरी भी कर दी गई थी।
बता दें कि कुछ दिन पहले दक्षिणपंथी संगठन यूथ फॉर सोशल मीडिया डेमोक्रेसी के सदस्यों ने ट्विटर के कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करते हुए आरोप लगाया था कि ट्विटर ने ‘दक्षिणपंथ विरोधी रुख’ अख्तियार किया है और उनके ट्विटर खातों को बंद कर दिया है। हालांकि, ट्विटर ने इन आरोपों से इंकार किया है। ट्विटर का कहना है कि वह विचारधारा के आधार पर भेदभाव नहीं करता। यूथ फॉर सोशल मीडिया डेमोक्रेसी के कुछ लोगों ने इस बारे में अनुराग ठाकुर को भी पत्र लिखा था।
ट्विटर के सीईओ और शीर्ष अधिकारियों द्वारा पेश होने से इंकार किए जाने पर संसदीय समिति के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। ठाकुर ने कहा, ‘हमने ट्विटर के जवाब को गंभीरता से लिया है। हम सोमवार (11 फरवरी) को इस बारे में चर्चा करेंगे और आगे की कार्यवाही करेंगे।’ बीजेपी प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने भी इस पर तल्खी जाहिर की। उन्होंने कहा, ‘ट्विटर के CEO और वरिष्ठ अधिकारी अगर पेश होने से इंकार करते हैं तो उन्हें इसके परिणामों को भी भुगतने के लिए तैयार रहना पड़ेगा।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »