रिया चक्रवर्ती के मीडिया ट्रायल पर कॉलम के जरिए बोलीं ट्विंकल खन्ना

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत मामले में रिया चक्रवर्ती के मीडिया ट्रायल को देखने के बाद कई बॉलीवुड सितारे एक्ट्रेस के सपोर्ट में उतर आए हैं। रिया चक्रवर्ती को सपोर्ट करने वाले सितारों की लिस्ट में लेटेस्ट नाम ट्विंकल खन्ना का है।
ट्विंकल खन्ना ने टाइम्स ऑफ इंडिया में छपे अपने कॉलम में रिया के सपोर्ट में कुछ बातें लिखी हैं।
ट्विंकल ने रिया के मीडिया ट्रायल के खिलाफ अपना विचार रखते हुए जाने-माने जादूगर पीसी सरकार का जिक्र किया है। उन्होंने लिखा है, ‘भारत के इतिहास में 1956 में देश के शानदार जादूगर पीसी सरकार टेलिविजन पर एक लड़की का मर्डर करते दिखे थे। हजारों दर्शकों के सामने उन्होंने उस लड़की के दो टुकड़े किए, जैसे कि वह सॉसेज रोल हो।’
ट्विंकल ने अपनी बातें आगे रखते हुए कहा, ‘जब शो खत्म हुआ तो चैनल के पास फोन कॉल्स की बाढ़ आ गई। जिस आखिरी बात ने दर्शकों को परेशान किया वह यह था कि सरकार उस लड़की को वापस जिंदा करने को लेकर बेबस नजर आ रहे थे। क्या वह सचमुच मर चुकी थी? हजारों लोग फोन कर बस यही जानना चाह रहे थे। अगले दिन वह फ्रंट पेज पर थे और इंग्लैंड में घर-घर में फेमस हो चुके थे। यह एक मास्टरफुल ट्रिक था।’
ट्विंकल ने रिया के मीडिया ट्रायल की तरफ निशाना साधते हुए कहा, ‘उन्होंने एक यंग लड़की को लिया और उसके दो टुकड़े कर दिए। उन्होंने टीशर्ट से काटा जिस पर लिखा था- ‘Roses are red, violets are blue, let’s smash the patriarchy, me and you’, ब्लेड उनके शरीर के मांस तक पहुंचा, लाखों की संख्या में लाइव ऑडियंस के सामने उनकी अपनी जिंदगी सूख चुकी थी। मैं जानना चाहती हूं कि कैमरा ऑफ होने के बाद ये जादूगर खुद से क्या कहते होंगे?
महीने भर 1.3 बिलियन लोगों को एंटरटेन करने के लिए वे एक इंसान की जिंदगी दांव पर लगा देते हैं।’
ट्विंकल ने अपने इस पोस्ट को ट्वीट भी किया है। ट्वीट करते हुए ट्विंकल ने लिखा है के टेलिविजन पर पीसी सरकार के उसी एक्ट को दोहराने में सभी व्यस्त हैं। बता दें कि ड्रग्स चैट मामले में रिया चक्रवर्ती व अन्य आरोपी 14 दिन की न्यायिक हिरासत में हैं। पिछले दिनों सेशन कोर्ट ने रिया और उनके भाई शौविक चक्रवर्ती की जमानत याचिका पर फैसला सुनाते हुए सभी की जमानत याचिका को खारिज कर दिया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *