उत्तरी सीरिया में Turkey की सैन्य कार्यवाही जारी, लोगों का पलायन

उत्तरी सीरिया में कुर्द लड़ाकों के नियंत्रण वाले इलाकों में Turkey की सैन्य कार्यवाही दूसरे दिन भी जारी है, जहां से भीषण लड़ाई की ख़बरें मिल रही हैं.
Turkey का कहना है कि उसने कुर्दों के कई ठिकानों पर नियंत्रण कर लिया है और बड़ी संख्या में कुर्द लड़ाके मारे भी गए हैं.
हमले के बीच हज़ारों लोगों का पलायन हो रहा है और कुर्दों का दावा है कि कई आम नागिरक मारे गए हैं.
Turkey का कहना है कि वो कुर्द लड़ाकों को हटाकर एक ‘सेफ़-ज़ोन’ तैयार करना चाहता है, जहां लाखों सीरियाई शरणार्थी भी रहते हैं.
Turkey ने इस कार्यवाही की योजना पहले से बनाकर रखी थी, लेकिन इस पर अमल तब किया जब अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप ने इलाक़े से अमरीकी सैनिकों को वापस बुला लिया.
‘पीठ में छुरा घोंपा गया’
इलाक़े में कुर्दों के नेतृत्व वाली सीरियाई डेमोक्रेटिक फोर्स (एसडीएफ), इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ाई में अमरीका की अहम सहयोगी रही है.
लेकिन Turkey इन कुर्द लड़ाकों को चरमपंथी मानता है.
अमरीका में ऐसे कई लोग हैं जो ये मानते हैं कि राष्ट्रपति ट्रंप ने सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुलाकर Turkey को इस कार्यवाही के लिए एक तरह से हरी झंडी दिखाई थी.
एसडीएफ का मानना है कि उन्हें ‘पीठ में छुरा घोंपा गया’ है. राष्ट्रपति ट्रंप ने गुरुवार को ट्वीट करके कहा था कि वो सीरिया के अंतहीन युद्ध को ख़त्म करने की कोशिश कर रहे हैं.
साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि Turkey ने यदि अपनी हद पार की तो उसे कड़े वित्तीय संकटों का सामना करना पड़ेगा.
तुर्की की इस कार्यवाही की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भर्त्सना हुई है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद भी इस पर चर्चा करने वाला है.
अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को उन संदिग्ध इस्लामिक स्टेट के क़ैदियों की चिंता है जिनकी संख्या हज़ारों में है, जो कुर्दों के नेतृत्व वाले बलों की निगरानी में बंद हैं.
Turkey के राष्ट्रपति अर्दोआन ने ये कहते हुए अपनी कार्यवाही का बचाव किया है कि इसे यदि क़ब्जा कहा गया तो वो उस इलाके में मौजूद सीरियाई शरणार्थियों को यूरोप भेज देंगे.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *