तुर्की ने चीन से कहा, वीगर मुसलमानों के हिरासत कैंप बंद करे

चीन में अल्पसंख्यक वीगर समुदाय के एक प्रमुख संगीतकार की मौत की रिपोर्ट के बात तुर्की ने चीन से वीगर मुसलमानों के लिए बनाए गए हिरासत कैंप बंद करने की मांग की है.
रिपोर्ट के मुताबिक अब्दुर्रहीम हेयीत चीन के शिनजियांग इलाक़े में आठ साल की सज़ा काट रहे थे. अनुमान के मुताबिक यहां क़रीब दस लाख वीगर मुसलमानों को हिरासत में रखा गया है.
तुर्की के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि इन लोगों का कंसंट्रेशन कैंपों में रखकर उत्पीड़न किया जा रहा है.
चीन का कहना है कि ये पुनर्शिक्षा केंद्र हैं जहां लोगों को फिर से शिक्षित किया जा रहा है.
वीगर चीन के शिनजिंयाग प्रांत के पश्चिमी इलाक़े में रहने वाले अल्पसंख्यक मुसलमान हैं जो तुर्की भाषा बोलते हैं.
चीन सरकार इस समुदाय पर बेहद कड़ी निगरानी रखता है और यहां धार्मिक आज़ादी पर कई तरह के प्रतिबंध हैं.
तुर्की ने क्या कहा है?
शनिवार को जारी किए गए एक बयान में तुर्की ने कहा है, “अब ये कोई राज़ नहीं है कि हिरासत में रखे गए दस लाख से अधिक वीगर मुसलमानों को प्रताड़ित किया जा रहा है और उन्हें राजनीतिक तौर पर ब्रेनवाश किया जा रहा है.”
बयान में कहा गया है कि जिन लोगों को हिरासत में नहीं रखा गया है उन पर भी भारी दबाव है.
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हामी अकसॉय ने कहा, “21वीं सदी में फिर से कंसंट्रेशन कैंप बनाए जाना और वीगर तुर्क मुसलमानों के ख़िलाफ़ चीनी प्रशासन की नीतियां मानवता के लिए शर्म की बात हैं.”
उन्होंने कहा कि अब्दुरर्हीम हेयीत की मौत की ख़बरें शिनजियांग में हो रहे गंभीर मानवाधिकार उल्लंघन के ख़िलाफ़ तुर्की लोगों की प्रतिक्रिया को और मज़बूत करती हैं.
उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेश से ‘चीन में मानवीय त्रास्दी’ को ख़त्म करने की दिशा में प्रभावी क़दम उठाने की अपील भी की है.
चीन के गुप्त कैंप
चीन का तर्क है कि शिनजियांग प्रांत में बनाए गए हिरासत कैंप “व्यावसायिक शिक्षा केंद्र” हैं जो क्षेत्र को चरमपंथ से मुक्त करने के उद्देश्य से बनाए गए हैं.
बीते साल अक्तूबर में दिए एक बयान में शिनजियांग में शीर्ष चीनी अधिकारी शोहरात ज़ाकिर ने कहा था, कैंपों में रखे गए लोग अपनी ग़लतियों को सुधारने के मौके के लिए शुक्रगुज़ार हैं.
मानवाधिकार समूहों का कहना है कि लोगों को बिना आरोप तय किए अनिश्चितकाल के लिए हिरासत में रखा जा रहा है. कई बार डीएनए सैंपल देने से इनकार करने, अल्पसंख्यक भाषा में बोलने या अधिकारियों से बहस करने पर भी लोगों को हिरासत में ले लिया जाता है.
उनकी मौत की ख़बरों की अभी स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो सकी है. मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा है कि वो उन्हें लेकर चिंतित है.
हेयीत एक विशेष वाद्ययंत्र दुतार के चर्चित वादक थे. एक समय वो समूचे चीन में लोकप्रिय थे. उन्होंने बीजिंग में संगीत की शिक्षा ली थी और वो चीन के राष्ट्रीय संगीत समूह के सदस्य रहे थे.
उन्होंने अपने पूर्वजों को याद करते हुए एक गीत पर प्रस्तुति दी थी जिसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया था. इस गीत में वीगर समुदाय के युवाओं से अपने बुजु़र्गों के त्याग का सम्मान करने का आह्वान किया गया है.
लेकिन इस गीत के शब्दों ‘युद्ध के शहीदों’ को चीन प्रशासन ने चरमपंथी धमकी से जोड़ कर उन्हें हिरासत में ले लिया था.
कौन हैं वीगर मुसलमान?
वीगर मुसलमान अधिकतर चीन के शिनजियांग प्रांत में रहते हैं. यहां की क़रीब 45 फ़ीसदी आबादी वीगर है.
ये लोग अपने आप को सांस्कृतिक और नस्लीय तौर पर तुर्की और अन्य मध्य एशियाई देशों के क़रीब देखते हैं और उनकी भाषा भी तुर्की से मिलती जुलती है.
हाल के दशकों में चीन के हान समुदाय के लोग ने शिनजियांग की ओर पलयान किया है और वीगरों को लगता है कि उनकी संस्कृति और कारोबार ख़तरे में हैं.
शिनजियांग अधिकारिक तौर पर चीन का एक स्वायत्त क्षेत्र है, ये दक्षिणी चीन में तिब्बत जैसा ही है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »