धूप से मर जाते हैं टीबी के बैक्टीरिया: डॉ. सूर्यकांत

देश में टीबी के बैक्टीरिया से हर दूसरा व्यक्ति संक्रमित है। इसका मतलब यह नहीं कि उसे टीबी है, लेकिन खतरा जरूर है। इससे बचने के लिए दिन में कम से कम पांच मिनट तक लगातार धूप लेनी चाहिए। लखनऊ में हो रहे इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल (आईआईएसएफ) के हेल्थ कॉन्क्लेव में किंग्स जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के रेस्पिरेटरी मेडिसिन के हेड डॉ. सूर्यकांत ने बताया कि धूप से टीबी के बैक्टीरिया मर जाते हैं।
डॉ. सूर्यकांत ने बताया कि 2025 तक भारत को टीबी मुक्त बनाने का लक्ष्य है। देश में अभी इसके करीब 32 लाख मरीज हैं। इनमें 11 लाख की पहचान नहीं है। वहीं, प्रदेश में करीब 7.5 लाख मरीज हैं। उन्होंने बताया कि टीबी से बचाव का सबसे अच्छा तरीका है कि मास्क लगाकर चलें या गमछा बांध लें।
बच्चों पर रखें नजर
फार्माकॉलजी विभाग के डॉ. आरके दीक्षित ने लत यानी एडिक्शन के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि घर से कीमती चीजें गायब हो रही हों, बच्चे के कमरे या बाथरूम से सीरिंज, सिगरेट की चमकीली फॉइल मिले तो सावधान हो जाना चाहिए। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी बच्चे की गतिविधियों पर नजर रखें।
3 महीने पर करें रक्तदान
ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की हेड डॉ. तूलिका चंद्रा ने बताया कि हर तीसरे महीने पर रक्तदान करना चाहिए। इससे ब्लड की मोबिलिटी बढ़ जाती है और हार्ट अटैक का खतरा पांच फीसदी तक कम हो जाता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »