पुतिन के साथ अहम बैठक से पहले ट्रंप ने बाइडन से कहा, सो मत जाना

वॉशिंगटन। कोरोना वायरस महासंकट के बीच अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडन स्विटजरलैंड के शहर जिनेवा में रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन के साथ एक बेहद अहम बैठक करने जा रहे हैं। बाइडन के राष्‍ट्रपति बनने के बाद यह उनका पहला विदेश दौरा है। अमेरिकी चुनाव प्रचार के दौरान पुतिन पर जोरदार हमला करने वाले बाइडन के रुख पर दुनियाभर की नजरें हैं।
इस बीच पूर्व अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने बाइडन को शुभकामनाएं दी हैं और साथ ही चेताया है कि वार्ता के दौरान सो मत जाना।
डोनाल्‍ड ट्रंप ने एक ईमेल संदेश में कहा, ‘जो बाइडेन राष्‍ट्रपति पुतिन के साथ मुलाकात के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं। बैठक के दौरान सो मत जाना, और हां… कृपया उन्‍हें मेरी गर्मजोशीभरी शुभकामनाएं देना।’ डोनाल्‍ड ट्रंप पिछले साल चुनाव प्रचार के दौरान बाइडन को ‘स्लिपी जो’ बुलाते रहे हैं। उन्‍होंने कई बार दावा किया था कि बाइडन का मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य लगातार गिरता जा रहा है।
मुलाकात से पहले रूस ने बाइडन को दिया झटका
अमेरिका के साथ संबंधों में सुधार करने के लिए रूस चीन से दूरी नहीं बनाएगा। बाइडन और पुतिन के बीच महत्वपूर्ण शिखर सम्मेलन से पहले बृहस्पतिवार को यह बात रूस के एक शीर्ष राजनयिक ने कही। बाइडन 16 जून को जिनेवा में पुतिन के साथ बैठक करेंगे जिसमें कई मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है। अमेरिका-रूस के बीच तनावों के बीच दोनों नेता पहली बार आमने-सामने मिलेंगे।
चीन में रूस के राजदूत आंद्रे डेनिसोव ने चीन के सरकारी ‘ग्लोबल टाइम्स’ से बृहस्पतिवार को कहा, ‘रूस, अमेरिका को लेकर चीन से दूरी नहीं बनाएगा।’
पुतिन ने तीन जून को विदेशी मीडिया के साथ डिजिटल वार्ता में शिन्हुआ संवाद समिति से कहा था कि रूस-चीन के संबंध ‘अभूतपूर्व रूप से उच्च स्तर’ पर हैं और दोनों पक्षों के बीच व्यापक साझा हित हैं। बाइडन-पुतिन शिखर सम्मेलन को लेकर बीजिंग में चिंतााएं हैं क्योंकि वॉशिंगटन अमेरिका और यूरोपीय संघ के खिलाफ चीन के साथ गठबंधन करने के रूसी नेता को प्रयास को नरम करने का प्रयास करेगा।
18वीं शताब्दी की विला करेगी मुलाकात की मेजबानी
स्विटजरलैंड के विदेश मंत्रालय के मुताबिक जिनेवा के एक सार्वजनिक पार्क के मध्य में स्थिति 18वीं शताब्दी के एक भव्य विला में अगले हफ्ते अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की शिखर बैठक होगी। स्विस अधिकारियों ने जिनेवा के पार्स डे ला ग्रांज को मंगलवार से दस दिनों तक जनता के लिये बंद कर दिया गया था, इसी परिसर के मध्य में विला ला ग्रांज भी स्थित है।
अधिकारियों ने बृहस्पतिवार से पहले इस परिसर को आम लोगों के लिये बंद किये जाने की कोई वजह नहीं बताई थी। मंत्रालय ने इस स्थान की शिखर वार्ता स्थल के तौर पर घोषणा की। सुरक्षा दस्तों ने परिसर तथा पास की पार्किंग के बंद होने तथा यातायात को निर्देशित करने वाले साइन बोर्ड लगाए हैं। पार्क के चारों तरफ बाड़बंदी भी की गई है। इस विला से लेक जिनेवा (झील) भी नजर आती है। यह विला और उद्यान बड़े पेड़ों से घिरे हुए हैं और यहां कई पेड़ 200 साल से भी पुराने हैं। यह जनवरी में अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के बाद बाइडन की पहली कूटनीतिक विदेश यात्रा है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *