ट्रंप ने ग्रीन कार्ड संस्‍पेंड करने के अपने फैसले पर कहा, यह जरूरी था

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस साल के अंत तक ग्रीन कार्ड जारी करने की प्रक्रिया पर रोक लगाने के अपने फैसले का बचाव किया है। उन्‍होंने कहा कि अमेरिकियों को नौकरी देने के लिए यह करना जरूरी था। ट्रंप ने अप्रैल में एक शासकीय आदेश के जरिए ग्रीन कार्ड जारी करने पर 90 दिनों की रोक लगा दी। सोमवार को उन्होंने एक उद्घोषणा जारी करते हुए इस निलंबन की अवधि 31 दिसंबर 2020 तक बढ़ा दी।
ट्रंप से जब निलंबन आदेश के बारे में पूछा गया तो उन्होंने मंगलवार को सैन लुइस एरिजोना में पत्रकारों से कहा, ‘हम अभी अमेरिकियों को नौकरियां देना चाहते हैं। अभी हम चाहते हैं कि नौकरियां अमेरिकियों को मिले।’ राष्ट्रपति ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के बीच आर्थिक संकट के कारण नौकरियां गंवाने वाले लाखों अमेरिकियों की मदद करने के लिए यह कदम अनिवार्य था।
ट्रंप ने कहा कि देश में कुल बेरोजगारी दर फरवरी और मई 2020 के बीच करीब चार गुना हो गई। अमेरिका हर साल 1,40,000 ग्रीन कार्ड जारी करता है। अभी अमेरिका में कानूनी रूप से रह रहे करीब 10 लाख विदेशी नागरिकों और उनके परिवार के सदस्यों की वीजा प्रक्रिया अटकी हुई है। इन आवेदनों को मंजूरी दे दी गई है लेकिन अभी तक इन्हें रोजगार वाला ग्रीन कार्ड नहीं मिला है।
उधर, अमेरिकी सांसदों ने कहा है कि एच1-बी वीजा और अन्य गैर आव्रजक वीजा के अस्थायी निलंबन से एशिया के उच्च कौशल प्राप्त कर्मियों के साथ-साथ उन अमेरिकी कारोबारों को नुकसान होगा, जो प्रवासी कर्मियों पर निर्भर करते हैं। सांसद जूडी चू ने कहा, ‘इससे एशिया के वे उच्च दक्षता प्राप्त कर्मी प्रभावित होंगे, जो एच-1बी वीजा प्रणाली का व्यापक स्तर पर इस्तेमाल करते हैं। अमेरिका में एच1-बी वीजा धारकों में से 80 प्रतिशत एशिया के लोग ही हैं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *