ट्रंप सरकार ने मुस्लिम बहुल देश के यात्रियों पर ट्रैवल संबंधी नई पाबंदियां लगाईं

Trump Government imposes new travel related restrictions on travelers in Muslim-dominated country
ट्रंप सरकार ने मुस्लिम बहुल देश के यात्रियों पर ट्रैवल संबंधी नई पाबंदियां लगाईं

वॉशिंगटन। अमेरिका की ट्रंप सरकार ने 8 मुस्लिम-बहुल देशों से आ रहे विमानों में यात्रियों के ऊपर ट्रैवल संबंधी नई पाबंदियां लगाई हैं। मिस्र, जॉर्डन, कुवैत, कतर, सऊदी अरब, तुर्की और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से आ रहे विमानों में यात्री लैपटॉप, आईपैड, कैमरा और कई अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामान नहीं ला सकेंगे। यह प्रतिबंध मंगलवार से शुरू हो रहा है। ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि यह एक अस्थायी व्यवस्था है। प्रतिबंध केवल उन विमानों से सफर कर रहे यात्रियों पर लागू होगा, जो कि सीधे इन देशों से उड़ने वाले विमानों से अमेरिका आ रहे हैं।
विशेषज्ञों का कहना है कि हो सकता है किसी संभावित हमले के खतरे को देखते हुए यह प्रतिबंध लगाया गया हो।
यह प्रतिबंध किन कारणों से लगाया गया है, यह अभी साफ नहीं हो सका है। अमेरिकी सुरक्षा अधिकारियों ने अपनी ओर से इस बैन के पीछे के कारणों का खुलासा नहीं किया। रॉयल जॉर्डेनियन एयरलाइन्स और सऊदी अरब की आधिकारिक न्यूज़ एजेंसी द्वारा जारी बयानों के माध्यम से इस प्रतिबंध की जानकारी मिली। अमेरिका के एक अधिकारी ने न्यूज़ एजेंसी AP से बात करते हुए बताया कि यह प्रतिबंध मिस्र, जॉर्डन, मोरक्को, कुवैत, कतर, तुर्की के एक-एक हवाईअड्डे और सऊदी अरब व UAE के दो-दो हवाईअड्डो से अमेरिका आने वाले अंतर्राष्ट्रीय विमानों पर लागू होगा।
जॉर्डन की एयरलाइन्स रॉयल जॉर्डेनियन ने बयान जारी कर बताया कि मोबाइल और चिकित्सीय उपकरणों को प्रतिबंध के दायरे से बाहर रखा गया है। सिक्यॉरिटी डिपार्टमेंट के प्रवक्ता डेविड लापन ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। ट्रांसपोर्टेशन सिक्यॉरिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने भी इस प्रतिबंध पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। रेंड कॉर्पोरेशन में उड़ान सुरक्षा विशेषज्ञ ब्रायन जेनकिन्स ने बताया कि इस प्रतिबंध को देखकर ऐसा लगता है कि किसी संभावित हमले की खुफिया जानकारी के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *