ट्रंप आ रहे हैं… 368 साल बाद संगमरमरी कब्रों का Mudpack

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे से पहले 22 फरवरी तक ताज में मडपैक और केमिकल ट्रीटमेंट के सभी काम पूरे कर लिए जाएंगे। संगमरमरी अजूबे में मुगल शहंशाह शाहजहां और मुमताज महल की कब्रों की पहली बार Mudpack ट्रीटमेंट के जरिए सफाई की जा रही है।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने दोनों कब्रों पर मुल्तानी मिट्टी का लेप (Mudpack) लगाकर गंदगी और दाग मिटाने का काम शुरू कर दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे से पहले 22 फरवरी तक ताज में मडपैक और केमिकल ट्रीटमेंट के सभी काम पूरे कर लिए जाएंगे।

ताजमहल के तामीर होने के 368 साल बाद यह पहला मौका है जब एएसआई ने कब्रों पर मुल्तानी मिट्टी लगाकर मडपैक ट्रीटमेंट से सफाई कार्य शुरू किया है। एएसआई अधीक्षण पुरातत्व रसायनविद डा. एमके भटनागर ने सोमवार को दोनों कब्रों पर मडपैक के काम की शुरूआत कराई। इन कब्रों के ऊपर लगे फानूस को भी उतारकर मंगलवार से केमिकल ट्रीटमेंट कर चमकाया जाएगा। यह फानूस लार्ड कर्जन ने 1908 में भेंट किया था। मिस्र के काइरो में बनी मस्जिद में देखकर लैंप डिजाइन कराकर भेंट किया गया था।’

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के लिए रॉयल गेट के रेड सैंड स्टोन प्लेटफार्म और रॉयल गेट के अंदर के पत्थरों की सफाई भी की जा रही है। रॉयल गेट से लेकर संगमरमरी गुंबद तक फुब्बारों के दोनों ओर लगे पाथवे के पत्थरों का केमिकल ट्रीटमेंट शुरू किया गया है।

गुंबद के अंदर कब्रों के बाहर लगी संगमरमरी जाली और उत्तर दिशा में यमुना किनारे की संगमरमरी दीवार को भी साफ किया जा रहा है। इसी दीवार पर कीड़ों के हरे दाग लगते रहे हैं।

अधीक्षण पुरातत्व रसायनविद् डॉ. एमके भटनागर का कहना है क‍ि ‘मुमताज महल और शाहजहां की कब्रों पर मडपैक लगा दिया गया है। यह काम 22 तारीख तक पूरा कर लिया जाएगा। कब्रों के ऊपर लगे फानूस समेत दीवारों की सफाई आदि के काम पहले ही पूरे हो जाएंगे’

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »