पंखुड़ी की शादी पर संकट, अनिल की पूर्व पत्‍नी ने लगाए गंभीर आरोप

नोएडा। एसपी प्रवक्ता अनिल यादव की कांग्रेस मीडिया पैनलिस्ट पंखुड़ी पाठक की 1 दिसंबर को होने वाली शादी पर संकट के बादल छा गए हैं। अनिल यादव की पूर्व पत्नी ज्योति यादव ने आरोप लगाया कि बेटे को मारने की धमकी देकर उससे जबरन तलाक दिलाया गया। इसके बाद 14 महीने तक जबरन घर में बंधक बनाकर शारीरिक उत्पीड़न और मारपीट की गई।
सेक्टर-29 नोएडा मीडिया क्लब में प्रेस वार्ता के दौरान अपने वकील वीके पांडेय के साथ पहुंचीं ज्योति यादव ने कहा कि वह विजयनगर (गाजियाबाद) की रहने वाली हैं। जुलाई 2013 में उनकी शादी सेक्टर 62 नवादा गांव के अनिल यादव से हुई थी। मई 2015 में बेटे का जन्म हुआ। इसी दौरान अनिल एसपी का राष्ट्रीय प्रवक्ता बन गया। सपा सरकार ने सितंबर 2016 में अनिल यादव और पंखुड़ी पाठक समेत अपने नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल को अमेरिका भेजा। वहां से लौटते ही अनिल का व्यवहार बदल गया और उसने मारपीट शुरू कर दी।
अनिल और छोटे भाई पर लगाया शारीरिक उत्पीड़न का आरोप
ज्योति के मुताबिक अनिल के मोबाइल में दोनों का अश्लील वीडियो मिला। अनिल से पूछने पर पता चला कि वीडियो पंखुड़ी ने बनाया है और अब उसे ब्लैकमेल कर शादी करने का दबाव बना रही है। अनिल ने उससे तलाक मांगा तो ज्योति ने इंकार कर दिया। आरोप है कि बेटे को जान से मारने की धमकी देकर सितंबर 2018 में तलाक ले लिया। ज्योति के मुताबिक तलाक के बाद भी उसे वापस मायके नहीं जाने दिया गया और 14 महीने तक घर में रखकर अनिल और उसके छोटे भाई ने शारीरिक उत्पीड़न किया।
धमकी देकर जबरन लिया तलाक
पूर्व पत्नी ज्योति ने कहा कि उन्होंने थाना सेक्टर 58 व एसएसपी से शिकायत की लेकिन कार्यवाही नहीं हुई। उनके वकील वीके पांडेय ने कहा कि तलाक बच्चे को जान से मारने की धमकी देकर जबरन लिया है इसलिए मान्य नहीं है। इसके खिलाफ वह दिल्ली हाई कोर्ट में अपील करेंगे। मारपीट व शारीरिक उत्पीड़न के खिलाफ वह सूरजपुर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में केस दर्ज करवाएंगे।
गाजियाबाद में भी दी शिकायत
अनिल यादव के खिलाफ उसकी पूर्व पत्नी ने शुक्रवार को गाजियाबाद के एसएसपी को भी शिकायत दी है। जहां से मामला नोएडा का बताकर वहां शिकायत करने के लिए कहा गया है।
पूर्व पत्नी के आरोपों को किया खारिज
उधर, अनिल यादव ने पूर्व पत्नी के सभी आरोपों को झूठा बताया है। उन्होंने कहा कि शादी के बाद उन दोनों की नहीं बन सकी इसलिए तलाक लिया था। इसके एवज में ज्योति ने उनसे 50 लाख रुपये मांगे, जो कोर्ट की निगरानी में उनके खाते में जमा कराए गए। तलाक के तुरंत बाद वह नवादा गांव छोड़कर सेक्टर-78 में रहने लगे। कहने के बावजूद ज्योति ने उनका घर नहीं छोड़ा। अब जब उनकी दूसरी शादी की तैयारियां होने लगीं तो मायके वालों को बुलाकर उनके हिस्से की कोठी भी अपने नाम करवाने की मांग की। अमेरिका की कथित घटना और तलाक के बाद शारीरिक उत्पीड़न के आरोपों को भी उन्होंने झूठा बताया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *