ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल ने ताजा करप्शन परसेप्शन इंडेक्स जारी किया

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल ने ताजा करप्शन परसेप्शन इंडेक्स (CPI 2020) जारी कर दिया है। संस्था ने कहा है कि उसने भ्रष्टाचार खत्म करने की दिशा में उठाए गए कदमों के आधार पर दुनिया के 180 देशों की रैंकिंग तैयार की है। इस रैंकिंग में भारत 86वें पायदान पर है। वहीं, पड़ोसी देश चीन 78वें, पाकिस्तान 124वें जबकि बांग्लादेश 146वें स्थान पर है।
कोरोना से निपटने में भ्रष्टाचार बना बड़ा पैमाना
हर साल दुनिया के देशों का करप्शन इंडेक्स तैयार करने वाली अंतर्राष्ट्रीय संस्था ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल ने इस बार के मापदंडों में कोविड-19 महामारी से निपटने के दौरान हुए भ्रष्टाचार पर विशेष जोर दिया। इस पैमाने पर बांग्लादेश बिल्कुल पिछड़ गया। संस्था की चेयरपर्सन डेलिया फरेरिया रूबियो (Delia Ferreira Rubio) ने कहा, “कोविड-19 सिर्फ स्वास्थ्य और आर्थिक संकट नहीं है। यह भ्रष्टाचार संकट भी है जिससे हम फिलहाल निपटने में असफल साबित हो रहे हैं।”
रूबियो ने आगे कहा, “पिछले वर्ष ने सरकारों को जैसी परीक्षा ली, वैसी पहले कभी नहीं हुई। उच्चस्तर पर फैले भ्रष्टाचार के कारण चुनौती से निपटने में कमी महसूस की गई। लेकिन जो करप्शन पर्स्पेशन इंडेक्स में टॉप पर हैं, उन्हें भी अपने देश और विदेशों में भ्रष्टाचार को मात देने में त्वरित और अनिवार्य भूमिका निभानी होगी।”
भारत, चीन, पाक, बांग्लादेश के हिस्से कितने अंक
बहरहाल, इस रैंकिंग में 100 में से 88-88 अंक प्राप्त कर न्यूजीलैंड और डेनमार्क शीर्ष स्थान पर हैं। वहीं, भारत ने 100 में 40, चीन ने 42, पाकिस्तान ने 31 जबकि बांग्लादेश ने महज 26 अंक प्राप्त किए हैं। एक और पड़ोसी देश अफगानिस्तान ने 100 में 19 अंक प्राप्त कर 165वीं रैंक हासिल की है। हालांकि, उसने 2021 से अब तक 11 पायदान ऊपर चढ़ने में सफलता पाई है और इस मामले में एशियाई देशों में वह सबसे आगे है। ध्यान रहे कि रैकिंग में टॉप पर रहे देश में सबसे कम जबकि निचले पायदान पर रहे देश में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार पाया गया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *