गुर्जर आंदोलन से ट्रेन रूट बुरी तरह प्रभावित, बैंसला ने निर्णायक लड़ाई का ऐलान किया

जयपुर। राजस्थान में जारी गुर्जर आंदोलन से ट्रेन रूट बुरी तरह प्रभावित है। पश्चिम रेलवे और पश्चिम मध्य रेलवे ने प्रभावित ट्रेनों के बारे में जानकारी दी है। स्थिति को देखते हुए एक स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है जबकि कई ट्रेनों को रद्द भी कर दिया गया है।
राजस्थान में आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलन जारी है। इससे रेलवे यातायात बुरी तरह प्रभावित है। पश्चिम रेलवे और पश्चिम मध्य रेलवे की ओर से प्रभावित ट्रेनों की जानकारी दी गई है। अवरोध के कारण लोगों की भीड़ बढ़ने पर पश्चिम रेलवे ने बांद्रा से सवाईमाधोपुर के बीच स्पेशल ट्रेन चलाने का ऐलान किया है। गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा है कि इस बार लड़ाई आर-पार की है। उन्होंने रविवार को भी दोहराया कि जब तक गुर्जर समुदाय को 5% आरक्षण नहीं मिल जाता, आंदोलन जारी रहेगा।
सवाईमाधोपुर-बयाना के बीच गुर्जर आंदोलन के कारण ज्यादा भीड़ हो गई है इसलिए पश्चिम रेलवे ने बांद्रा टर्मिनस से सवाईमाधोपुर के बीच 10-14 फरवरी के बीच रात 8:15 पर स्पेशल ट्रेन चलाई जाएगी। यह सवाईमाधोपुर से दोपहर 1:45 बजे निकलेगी। इस रूट पर 31 ट्रेनें रद्द हैं और 47 के रूट में बदलाव है। वहीं, पश्चिम मध्य रेलवे ने जानकारी दी है कि 10 ट्रेनें प्रभावित हैं।
यह है मामला
बता दें कि गुर्जर समाज सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्‍थानों में प्रवेश के लिए गुर्जर, रायका रेबारी, गडिया, लुहार, बंजारा और गड़रिया समाज के लोगों को पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहा है। वर्तमान में अन्‍य पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के अतिरिक्‍त 50 प्रतिशत की कानूनी सीमा में गुर्जरों को अति पिछड़ा श्रेणी के तहत एक प्रतिशत आरक्षण अलग से मिल रहा है। बैंसला ने कहा है कि जब तक उनकी 5% प्रतिशत आरक्षण की मांग पूरी नहीं हो जाती, वह आंदोलन जारी रखेंगे।
CM गहलोत ने डाली PM मोदी के पाले में गेंद
प्रदर्शनों को देखते हुए राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने गुर्जर समुदाय के नेताओं से बातचीत करने की बात कही थी। उन्होंन अपील की थी कि लोग ट्रेन पटरियों पर बैठकर प्रदर्शन न करें। उनकी आरक्षण दिए जाने संबंधी मांग सिर्फ संविधान संशोधन करके ही पूरी की जा सकती है। इसके लिए समुदाय के लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपना चाहिए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »