संसद में काफी गमगीन था आज का माहौल, CDS रावत व अन्य को दी गई श्रद्धांजलि

संसद का शीतकालीन सत्र अब तक हंगामेदार रहा है। कृषि कानूनों की वापसी के मुद्दे से लेकर नगालैंड में फायरिंग समेत अन्य मुद्दे पर शायद ही कोई ऐसा दिन हो जब हंगामे के कारण संसद की कार्यावाही को निलंबित नहीं करना पड़े। इसके उलट आज संसद में अलग ही माहौल था। संसद में आज हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मारे गए CDS बिपिन रावत व अन्य को श्रद्धांजलि दी गई।
राजनाथ से लेकर सोनिया गांधी तक, सभी थे उदास
सदन में जब लोकसभा अध्यक्ष जब सीडीएस समेत अन्य लोगों के निधन पर शोक व्यक्त कर रहे थे उस समय रक्षा मंत्री से लेकर सोनिया गांधी समेत तमाम सांसदों के चेहरे उदासी में लटके हुए थे। हंगामेदार रहने वाली संसद में आज का माहौल काफी गमगीन सा था। सदन ने दिवंगत आत्माओं के सम्मान में दो मिनट का मौन रखा।
देश की सेवा की लिए रखा जाएगा याद
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने तमिलनाडु में एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 11 अन्य सैन्य अधिकारियों के निधन पर गुरुवार को शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सीडीएस जनरल बिपिन रावत को उनकी देशभक्ति और राष्ट्र के लिए उनकी सेवा के लिए हमेशा याद किया जाएगा। दुख की इस घड़ी में, पूरा सदन शोक संतप्त परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता है।
एक दिन के लिए निलंबित किया धरना
संसद के मॉनसून सत्र के दौरान ‘अशोभनीय आचरण’ को लेकर शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित किए गए राज्यसभा के 12 सदस्यों ने हेलीकॉप्टर दुर्घटना में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य सैन्यकर्मियों की मृत्य के मद्देनजर उनके सम्मान में बृहस्पतिवार को अपना धरना एक दिन के लिए निलंबित कर दिया।
नेताओं ने रखा कुछ देर की लिए मौन
गत 29 नवंबर को निलंबन के बाद से ये सांसद यहां संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना दे रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक निलंबन रद्द नहीं होगा, तब तक वे संसद की कार्यवाही के दौरान सुबह से शाम तक महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरने पर बैठेंगे। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और कई अन्य विपक्षी दलों के नेताओं ने गुरुवार को बैठक की जिसमें यह फैसला लिया कि जनरल बिपिन रावत और 12 अन्य लोगों के सम्मान में यह धरना एक दिन के लिए निलंबित किया जाएगा। इसके बाद इन नेताओं ने कुछ देर के लिए मौन भी रखा। इनमें समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा और कुछ अन्य विपक्षी सांसद में शामिल थे।
सभी पार्टियां देश हित कर लिए करती हैं काम
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता खड़गे ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘सभी विपक्षी दलों के नेताओं ने बैठक की। जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य सैन्यकर्मियों का दुखद निधन हुआ है। हम गहरा दुख प्रकट करते हैं। देश का बहुत बड़ा नुकसान हुआ है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘सभी पार्टियां देश हित में काम करती हैं। देश के लिए कुर्बानी देने वाले जवानों को हम एक होकर श्रद्धांजलि देते हैं। हमने तय किया है कि संसद परिसर में 12 निलंबित सांसदों का धरना आज नहीं होगा।’’
कांग्रेस, टीएमसी समेत अन्य दलों के 12 सांसद हैं निलंबित
पिछले सप्ताह सोमवार, 29 नवंबर को आरंभ हुए संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन राज्यसभा में कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों के 12 सदस्यों को इस सत्र की शेष अवधि के लिए उच्च सदन से निलंबित कर दिया गया था। जिन सदस्यों को निलंबित किया गया है उनमें मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के इलामारम करीम, कांग्रेस की फूलों देवी नेताम, छाया वर्मा, रिपुन बोरा, राजमणि पटेल, सैयद नासिर हुसैन, अखिलेश प्रताप सिंह, तृणमूल कांग्रेस की डोला सेन और शांता छेत्री, शिव सेना की प्रियंका चतुर्वेदी और अनिल देसाई तथा भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के विनय विस्वम शामिल हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *