आज विहार पंचमी को प्रकटे थे ठा. बांकेबिहारी, वृंदावन में उत्सव

वृंदावन (मथुरा)। तीर्थनगरी वृंदावन में आज विहार पंचमी पर ठाकुर बांकेबिहारी का प्राकट्योत्सव धूमधाम से मनाया गया। बांकेबिहारी मंदिर को भव्य रूप से सजाया जाएगा। निधिवन से बांकेबिहारी मंदिर तक शोभायात्रा निकाली गई ज‍िसमें चांदी के रथ पर स्वामी हरिदास महाराज ने बांकेबिहारी मंदिर पहुंचकर प्राकट्योत्सव की बधाई दी।

संवत् 1562 मार्गशीर्ष मास की शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि को स्वामी हरिदास की संगीत साधना से प्रसन्न होकर ठाकुर बांकेबिहारी का निधिवन राज मंदिर से प्राकट्य हुआ। इस दिन को विहार पंचमी के रूप में मनाया जाता है। हर वर्ष ठाकुरजी का प्राकट्योत्सव धूमधाम से मनाया जाता है।

आज रविवार को भगवान ठा.बांकेबिहारी जी का पंचामृत से महाभिषेक हुआ, इसके पश्चात उन्हें पीले रंग की पोशाक पहनाई गई वहीं उन्हें केसर युक्त हलवे का भोग लगाया गया।

मंदिर के सेवायतों ने आज प्रात: 6 बजे भगवान बांकेबिहारी जी का पंचामृत से अभिषेक कर महोत्सव का आगाज क‍िया। इसके बाद उन्हें पीले रंग की जरी की पोशाक धारण कराई गई। वहीं इस दौरान भगवान को केसर युक्त हलवे (मोहन भोग) का भोग लगाया गया। मंदिर के सेवायतों ने अपने आराध्य के प्राकट्य होने की खुशी में बधाई गायन क‍िया। साथ ही मंदिर में भक्तों को खिलौने, मेवा, फल लुटाए गए। मंदिर को रात को ही गेंदे के फूलों से सजाया ल‍िया गया था।

स्वामी हरिदास के मंदिर पहुंचने पर ही ठा. बांकेबिहारी लगाते हैं भोग

ठा. बांकेबिहारी की प्राकट्य स्थली निधिवन से बांकेबिहारी मंदिर शोभायात्रा पहुंचने के पश्चात सवारी के साथ चांदी के रथ में विराजित स्वामी हरिदास महाराज का चित्रपट मंदिर की तिवारी में विराजमान किया गया, इसके पश्चात ही ठाकुरजी ने भोग ग्रहण क‍िया । मंदिर के सेवायत भीकचंद गोस्वामी ने बताया कि बांकेबिहारी मंदिर में यह प्राचीन परंपरा है कि निधिवन से सवारी मंदिर पहुंचने पर उनके प्राकट्यकर्ता स्वामी हरिदास महाराज तिलक लेकर बांकेबिहारी की बधाई देने जाते हैं। उसके बाद ही ठाकुरजी भोग ग्रहण करते हैं।

सीता-राम का विवाह इसी दिन हुआ

विहार पंचमी अथवा विवाह पंचमी हिंदू धार्मिक मान्यता के अनुसार मार्गशीर्ष शुक्ल पंचमी बांकेबिहारी के प्रकट होने की तिथि भी है। रामायण के अनुसार त्रेता युग में सीता-राम का विवाह इसी दिन हुआ माना जाता है। मिथिलाचंल और अयोध्या में यह तिथि ‘विवाह पंचमी’ के नाम से प्रसिद्ध है।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »