वक्त-बेवक्त कुछ न कुछ खाते रहना पहुंचाता है सेहत को नुकसान

कई बार लोग जब मन किया, कुछ भी खा लेते हैं। रात को देर तक जागने वाले लोग अक्सर देर रात को स्नेक्स लेना पसंद करते हैं लेकिन ये वक्त-बेवक्त कुछ न कुछ खाते रहना आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाता है। खासतौर से देर रात को खाना तो बेहद ही नुकसानदेह होता है। इस तरह की फूड हबिट्स से होने वाली समस्याओं के बारे में आपको जानना चाहिए।
खाना डाइजेस्ट होने में प्रॉब्लम
भले ही मिड नाइट स्नैक्स खाने में आपको मजा तो खूब आता है लेकिन यह स्नैक्स आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को बिगाड़ देते हैं। खाना डाइजेस्ट होने में प्रॉब्लम होने लगती है। हेल्थ एक्सपर्ट्स कहते हैं कि मिड नाइट स्नैक्स लेना हेल्थ के नजरिए से सही नहीं है। आप बिना वक्त के जो भी खाते हैं, वह सीधे कैलरीज में चेंज हो जाता है। इसकी वजह यह है कि मिड नाइट स्नैक्स लेने के बाद कोई फिजिकल एक्टिविटी नहीं हो पाती और आप सीधे बेड पर सोने चले जाते हैं।
जंक फूड पचता है 2 से 3 घंटे में
क्या आपको पता है कि कुकीज और चिप्स जैसे जंक फूड को पचाने में बॉडी को दो से तीन घंटा तक लग जाता है, वह भी दिन में। ऐसे में अगर आप रात को इसे खाते हैं तो पेट की क्या हालत हो सकती है, अंदाजा लगाया जा सकता है। सीधे फैट में तब्दील स्नैक्स चाहे दिन में खाएं या रात को, उसका फैट में तब्दील होना तय है। स्नैक्स चटपटे, ऑयली और फ्राइड होते हैं। हां, अगर आप वर्कआउट करते हैं तो एक निश्चित क्वॉन्टिटी में इस तरह के स्नैक्स ले सकते हैं। अगर आपकी आदत में इस तरह के स्नैक्स आ चुके हैं तो जंक फूड की जगह हेल्दी फूड खाने की आदत डालें।
दांतों का खराब होना
दांतों का खराब होना भी बेहद कॉमन प्रॉब्लम है। दांतों पर कैवेटीज आ जाती है। मिड नाइट स्नैक्स लेने के बाद ज्यादातर लोग ब्रश नहीं करते और खाकर सीधे सो जाते हैं। इससे खाई हुए चीजों का कुछ हिस्सा दांतों पर रह जाता है, जिससे बाद में बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। खासतौर से अगर आपने मिठाइयां और डेजर्ट्स खाया है तो आपके लिए इससे बचना नामुमकिन है। मिड नाइट स्नैक्स से न केवल दांतों में बैक्टीरिया पनपने का खतरा रहता है, बल्कि इससे दांतों पर कैवेटीज भी हो जाती हैं। इसलिए मिडनाइट खाने से बचें और अगर खा रहे हैं, तो एक बार ब्रश जरूर कर लें।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »