भारत में बैन से Tik Tok को हर दिन 3.5 करोड़ रुपये का नुकसान

नई दिल्‍ली। वीडियो ऐप Tik Tok वाली चीनी कंपनी बाइटडांस का कहना है कि भारत में बैन लगने से उसे हर दिन 3.5 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। बाइटडांस को यह झटका ऐसे वक्त में लगा जब वह भारत में अपना विस्तार करने की योजना बना रही थी।
Tik Tok ऐप की डिवेलपर चीन की कंपनी बाइटडांस टेक्नोलॉजी है। न्यूज़ एजेंसी रायटर्स के मुताबिक पेइचिंग स्थित इस कंपनी ने कहा कि भारत में रोक लगने के कारण हो रहे नुकसान की भरपाई के लिए वह 250 कर्मचारियों की छंटनी पर विचार कर रही है। बाइटडांस ने चीन की एक अदालत को यह जानकारी दी।
दुनियाभर में 1 अरब यूजर्स
टिक टॉक दुनिया में मशहूर छोटे-छोटे वीडियो शेयर करने वाले प्लेटफॉर्म्स में एक है। इस ऐप में वीडियो बनाने के लिए स्पेशल इफेक्ट्स की सुविधा दी गई है। ऐनालिटिक्स फर्म सेंसर टावर के मुताबिक भारत में करीब 3 करोड़ यूजर्स ने टिक टॉक ऐप डाउनलोड किया है जबकि दुनियाभर में इसके 1 अरब यूजर्स हैं।
‘भारत में बढ़ता रहेगा निवेश’
बाइटडांस को यह झटका ऐसे वक्त में लगा जब वह भारत में अपना विस्तार करने की योजना बना रही थी। हालांकि, टिक टॉक की ग्लोबल पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर हेलेना लर्स ने बिजनस अखबार मिंट को दिए इंटरव्यू में कहा कि कंपनी भारतीय यूजर्स पर खर्च करती रहेगी। उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि 2019 के आखिर तक भारत में टिक टॉक के 1,000 एंप्लॉयी काम कर रहे होंगे। इनमें 25% यानी 250 एंप्लॉयी सिर्फ काम कन्टेंट मॉडरेशन में लगे होंगे।
कोर्ट ने ऐप डाउनलोडिंग पर लगाया बैन
गौरतलब है कि टिक टॉक पर अश्लील वीडियोज की भरमार होने के कारण मद्रास हाई कोर्ट की मदुरै बेंच ने 13 अप्रैल को केंद्र सरकार को टिक टॉक की डाउनलोडिंग पर बैन लगाने का निर्देश दिया था। साथ ही, मीडिया से भी कहा था कि वह टिक टॉक पर बने वीडियो का प्रसारण न करे। उसके बाद भारत सरकार के निर्देश पर टिक टॉक को गूगल प्ले स्टोर और ऐपल के ऐप स्टोर से हटा लिया गया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »