तिब्बती बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा ने खुद को भारत का बेटा बताया

Tibetan Buddhist cleric Dalai Lama described himself as the son of India
तिब्बती बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा ने खुद को भारत का बेटा बताया

राजगीर (बिहार)। तिब्बती बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा ने खुद को सन ऑफ इंडिया (भारत का बेटा) बताया है। उन्होंने देश में व्याप्त धर्मनिरपेक्षता के माहौल की भी खूब तारीफ की है। बिहार के नालंदा जिले में बौद्ध धर्म पर आयोजित एक इंटरनेशनल सेमिनार के उद्घाटन के मौके पर दी गई स्पीच में उन्होंने ये विचार व्यक्त किए।
उन्होंने कहा, ‘मैं भारत में 58 साल से रह रहा हूं इसलिए मैं भारत का बेटा हूं।’ दलाई लामा के मुताबिक, ‘धर्मनिरपेक्षता के मामले में कोई भी देश भारत जैसा नहीं है।’
उन्होंने कहा, ‘जब मैं तिब्बत में था तो मेरे विचारों का दायरा बेहद संकरा था। जब मैं अपनी जमीन छोड़कर भारत आया तो तिब्बत और पूरी दुनिया को लेकर एक विस्तृत नजरिया विकसित करने में कामयाब हो पाया।’ उन्होंने कहा, ‘आज मैं जो कुछ भी हूं, नालंदा से मिले विचारों की वजह से ही हूं।’ दलाई लामा ने कहा कि अच्छी शिक्षा से इंसानों में सहिष्णुता का गुण विकसित करने में मदद मिलती है, साथ ही क्षमा करने की आदत भी आती है।
उन्होंने कहा, ‘आज की शिक्षा व्यवस्था हमें एक उपभोक्ता बना रही है। शिक्षा का पारंपरिक तरीका ही अच्छा था।’
इस कार्यक्रम में देश के पर्यटन मंत्री महेश शर्मा भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि बौद्ध धर्म एकता और शांति का प्रतीक है। शर्मा के मुताबिक, पूरी दुनिया को बौद्ध धर्म से काफी उम्मीदें हैं। बता दें कि इस कार्यक्रम में रविवार को प्रेजिडेंट प्रणब मुखर्जी भी शरीक होने वाले हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *