गुरुवार की कोरोना रिपोर्ट, एक दिन में 22 हजार से अधिक नए केस सामने आए

नई दिल्‍ली। देश में कोरोना के फिर से बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ा दी है। अगर हम फरवरी से तुलना करें तो मार्च में कोरोना के मामले डबल हो गए हैं। फरवरी में तीन से चार दिन रोजाना 11 से 12 हजार मामले सामने आ रहे थे। गुरुवार की रिपोर्ट के अनुसार कोरोना संक्रमण के एक दिन में 22 हजार से अधिक नए केस सामने आए हैं। करीब ढाई महीने के बाद देश में कोरोना के 22 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। वहीं, यह लगातार 8वां दिन है जब एक दिन में कोरोना के 15 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं।
महाराष्ट्र, केरल समेत 5 राज्यों से सबसे अधिक मामले
देश में महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक और गुजरात सबसे अधिक प्रभावित राज्य हैं। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में सबसे अधिक 13659 के, केरल में 2475, पंजाब में 1393, कर्नाटक में 760 और गुजरात में 675 नए केस सामने आए। महाराष्ट्र के कई जिले में ऐहतियातन नाइट कर्फ्यू के साथ ही आंशिक लॉकडाउन भी लगाया गया है।
दिल्ली में दो महीने बाद सबसे अधिक 370 केस
देश में एक दिन में कोविड-19 के 22,854 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,12,85,561 हो गए। वहीं 126 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,58,189 हो गई है। देश में अभी 1,89,226 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है और 1,09,38,146 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। वहीं, दिल्ली में लगभग दो महीने बाद कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक 370 नए मामले सामने आए। तीन रोगियों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या 10,931 हुई।
मुंबई में फिर पैर पसार रहा कोरोना
मुंबई में एक बार फिर कोरोना वायरस तेजी से पैर पसार रहा है। मुंबई में 4 महीने के बाद कोरोना के नए मामले 1,100 से अधिक मिल रहे हैं। मार्च के शुरुआती सप्ताह से कोरोना के नए मामले एक हजार से अधिक मिल रहे हैं। 1 मार्च से 9 मार्च तक मुंबई में कोरोना के 9,669 नए मरीज मिले हैं, जबकि अक्टूबर में इन 9 दिन में 19,699 मरीज मिले थे।
कर्नाटक में कोरोना का साउथ अफ्रीकी स्ट्रेन
कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के साउथ अफ्रीकी स्ट्रेन का पहला मामला सामने आया है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को अपने बुलेटिन में यह जानकारी दी। हालांकि विभाग ने इस मामले की विस्तृत जानकारी नहीं दी है। राज्य में कोरोना वायरस के ब्रिटिश स्ट्रेन से अब तक 29 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं।
फरवरी में तीन बार 10 हजार से कम मिले थे मरीज
इस साल फरवरी में तीन बार एक दिन में कोरोना संक्रमण के 10 हजार से कम मरीज मिले थे। इसके बाद मार्च में कोरोना के रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है। इससे पहले पिछले साल दिसंबर में रोजाना मिलनेनवाले केस 20 हजार से ऊपर थे। एक बार फिर कोरोना के रोजाना आने वाले केस 22 हजार का आंकड़ा पार कर गए हैं।
इस तरह बढ़ते गए मामले
देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवम्बर को 90 लाख और 19 दिसम्बर को एक करोड़ के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार देश में अभी तक 22,42,58,293 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है। इनमें से 7,78,416 नमूनों की जांच बुधवार को की गई थी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *