Civil Enclave की ज़मीन के लिये किसानों ने सौंपे हलफ़नामे

आगरा। ताज सिटी में बनाये जा रहे Civil Enclave के लिये भरपूर जमीन उपलब्‍ध है, बशर्ते सरकार इसके लिये अपनी साफ नीयत का परिचय दे। सिविल सोसायटी के अध्‍यक्ष पार्षद डा शिरोमणी सिंह ने उन तीन किसानों के हलफनामे आगरा Civil Enclave की डायरेक्‍टर श्रीमती कुसुम दास को सौंपे तथा कहा कि यह जमीन सिविल एयरपोर्ट की अवस्‍थापना सुविधाओं के लिये काफी उपयोगी है, सरकार को इसे मुआवजा देकर खरीद लेना चाहिये।

सिविल एयरपोर्ट डायरेक्‍टर से उनके कार्यालय में सोसायटी के प्रतिनिधियों के साथ मिलने गये श्री सिंह ने कहा कि इन तीन किसानों के समान ही कुछ अन्‍य किसान भी अपनी जमीन Civil Enclave के लिये देना चाहते हैं उनमें से कुछ ने आगरा प्रशासन के माध्‍यम से शासन को प्रस्‍ताव भी भेजे हुए हैं किन्‍तु सरकार की ओर से इनके संबध में कोई भी निर्देश भूमि अध्‍यापित अधिकारी को अब तक नहीं आया।

एयरपोर्ट डायरेक्‍टर ने जमीन उपलब्‍धता संबंधी जानकारी को महत्‍वपूर्ण बताते हुए कहा कि जमीन की उपलब्‍धता की जनकारी अति महत्‍वपूर्ण है। उन्‍होंने कहा कि आगरा प्रशासन के साथ जब भी बैठक होगी इन हलफनामे के बाबत जानकारी रखेंगी। इसके साथ ही उन्‍होंने सुझाव दिया कि आगरा प्रशासन को भी जमीन उपलब्‍ध करवाने के इच्‍छुक किसानों के बारे में जानकारी देना अधिक उपयोगी होगा।

आगरा-इलाहाबाद-गोरखपुर के बीच आर ए सी योजना के तहत फ्लाइट शुरू करवायी जाये

श्री अनिल शर्मा ने बताया के अभयपुरा के भी किसान अपनी जमीन देना कहते हैं। सिविल सोसाइटी का कहना है कि आज जमीन उपलब्ध है, अतिरिक्त जमीन ले कर प्रशासन आगरा को अच्छा एन्क्लेव बनवाएं। किसानों/मकान धारकों का कहना है प्रशासन ने उन से सही जानकारी नहीं दी है।

उधर सोसायटी के जर्नल सैकेट्री अनिल शर्मा ने कहा कि रीजनल एयर कनैक्‍टिविटी की योजना के तहत उत्‍तर प्रदेश के कई हवाई अड्डों को उड़ान मानचित्र पर लाये जाने की योजनाओं पर काम शुरू हो चुका है किन्‍तु आगरा को बैंगलूर, पुणे दिल्‍ली, चेन्‍नई से जोडने वाला किसी भी उपयोगी साबित हो सकने वाले रूट के प्रचारित किये जाने को लेकर काम नहीं हुआ है।

उन्‍होंने आगरा-इलाहाबाद -गोरखपुर के बीच आर ए सी योजना के तहत रूट निर्धारित किये जाने तथा इसकी जानकारी आधिकारिक रूप से एयरलाइंस आप्रेटरों के बीच करने का सुझाव दिया।

श्री शर्मा ने कहा कि अगर इस रूट का सही प्रकार से आप्रेटरों के बीच प्रचार हो जाये तो एक नहीं कई आप्रेटर यहां हवाईजहज सेवा शुरू करने को तैयार हो जायेंगे। श्री शर्मा ने भारत सरकार की इंटरनेशनल एयर कनैक्‍टिविटी योजना के तहत बैंकाक और दुबई के लिये सेवा शुरू करने को सिविल एवियेशन मिनिस्‍ट्री को भेजे गये सुझाव की जानकारी भी एयरपोर्ट डायरैक्‍टर को दी।
एयरपोर्ट डायरेक्टर ने बताया के उन के पास अमूनन बहुत जगह के लिये flight उपलाब्द्ता के लिये फ़ोन आते हैं.

शीघ्र होगी एयरपोर्ट एडवाईजरी कमेटी की होगी बैठक
एयरपोर्ट डायरैक्‍टर ने एक जानकारी में बताया कि रीजनल एयरकनैक्‍टिविटी सहित , पंडित दीन दयाल उपाध्‍याय Civil Enclave आगरा की अन्‍य समस्‍याओं और सुझावों पर विचारार्थ शीघ्र ही एयरपोर्ट एडवाईजरी कमेटी की मीटिंग होना प्रस्‍तावित है। इसी में वह आगरा-इलहाबाद -गोरखपुर एयररूट का मुद्दा भी उठायेंगी। इलहाबाद के लिये तो अक्‍सर फ्लाइट कनैक्‍टिविटी की जानकारी लेने को फोन तक आते रहते हैं।

सिविल सोसायटी की ओर प्रशासन के द्वारा अधिग्रहित की गयी जमीन को एयरपोर्ट अथार्टी को हस्‍तातंरित करने के संबधी में की गयी एक जानकारी के संबध में उनहोंने बताया कि कुछ दिनपूर्व प्रशासन के साथ ए ए आई की बैठक हो चुकी है। जनसुनवायी संबधी औपचारिकता भी हो चुकी है। उसकी रिपोर्ट आने के बाद जमीन हस्‍तातरण का काम भी हो जायेगा। नये सिविल एन्‍कलेव के निर्माण को प्रस्‍तावित प्रोजेक्‍ट पर ताज ट्रिपेजियम जोन की हाल ही में संपन्‍न हुई बैठक में भी विचार किया जा चुका है। मीटिंग मिनिट्स आने के बाद आगामी कार्रवाही की जायेंगी। सिवल सोसायटी के प्रतिनिधि मंंडल मेें अध्‍यक्ष्‍डा डाा शिरोमणी सिंह, जर्नल सैकेट्री अनिल शर्मा, , पत्ररकार राजीव सक्‍सेना भी शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »