ईरानी बॉर्डर गार्ड फोर्स की कार्यवाही में तीन अफगान शरणार्थियों की मौत

तेहरान। ईरानी बॉर्डर गार्ड फोर्स की कार्यवाही में अफगानिस्तान के तीन शरणार्थियों की मौत के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है।
इस घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया में शेयर किया जा रहा है जिसमें एक लड़का कार में लगी आग से झुलसने के बाद पानी मांग रहा है। इससे पहले भी ईरानी सेना पर आरोप लगा था कि उनकी प्रताड़ना से सीमा पर 45 अफगान शरणार्थियों की मौत हो गई थी। हालांकि ईरान ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था।
ड्रग्स और मानव व्यापार का था शक
ईरान के यज्द प्रांत के डिप्टी गवर्नर अहमद ताराहोमी ने बताया कि बॉर्डर गार्ड फोर्स को शक था कि इस कार में ड्रग्स और शरणार्थियों को अवैध रूप से ले जाया जा रहा है। कार को फोर्स ने एक चेक पॉइंट पर रोकने की कोशिश की लेकिन उसमें सवार लोग नाका तोड़कर भागने लगे।
चेकपॉइंट पर न रुकने पर की गई फायरिंग
गवर्नर ने बताया कि सुरक्षा कारणों से गार्ड्स ने कार के टायर पर गोलियां चलाईं जिससे वह फट गया। उसके बाद भी कार रिम्स के सहारे चलती रही और इससे पैदा हुई चिंगारी से कार में आग लग गई। बता दें कि सोशल मीडिया में वायरल हो रहे वीडियो के प्रमाणिकता की पुष्टि अफगान विदेश मंत्रालय ने की है।
अफगानिस्तान ने शुरू की जांच
हरान में अफगानिस्तान के राजदूत अब्दुल गफूर लिवाल ने बताया कि पीड़ितों का सहायता करने और घटना की जांच करने के लिए एक अफगान प्रतिनिधिमंडल को ईरान भेजा जा रहा है। सोशल मीडिया में वीडियो के वायरल होने के बाद ईरान में अफगानों के साथ कथित तौर पर बदसलूकी को लेकर जबरदस्त हंगामा हुआ है। बता दें कि ईरान में लगभग 30 लाख अफगान शरणार्थी और प्रवासी रहते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *