राहुल के 3 वफादारों को सोनिया के नजदीकी की धमकी, तत्‍काल माफी मांगो

मुंबई। महाराष्ट्र के पशुपालन मंत्री सुनील केदार ने सोनिया गांधी के नेतृत्व को लेकर पत्र लिखने पर पृथ्वीराज चव्हाण, मिलिंद देवड़ा और मुकुल वासनिक को कड़ी फटकार लगाई है।
कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर पर चल रहे घटनाक्रम के बीच महाराष्ट्र कांग्रेस ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में अपना विश्वास जताया है।
महाराष्ट्र के पशुपालन मंत्री सुनील केदार ने पृथ्वीराज चव्हाण, मिलिंद देवड़ा और मुकुल वासनिक को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व को लेकर पत्र लिखने पर कड़ी फटकार लगाई है। उन्होंने तीनों नेताओं को फौरन इस बात के लिए माफी मांगने को कहा है। साथ ही चेतावनी दी है कि ऐसा न करने पर कांग्रेस के कार्यकर्ता उन्हें महाराष्ट्र में घूमने नहीं देंगे।
महाराष्ट्र के पशुपालन मंत्री मंत्री सुनील केदार ने ट्वीट कर अपना गुस्सा जताया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘मैं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का तहे दिल से समर्थन करता हूं। यह बड़े ही दुख की बात है कि पृथ्वीराज चव्हाण, मिलिंद देवड़ा और मुकुल वासनिक ने गांधी परिवार के नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं। उन्हें तुरंत इस बात के लिए माफी मांगनी चाहिए। वरना कांग्रेस के कार्यकर्ता उन्हें महाराष्ट्र में घूमने नहीं देंगे।’ इसके बाद नागपुर में एक संवाददाता सम्मेलन में सुनील केदार ने कहा कि वह अपनी बात पर अडिग हैं। कांग्रेस के तथाकथित बुद्धिजीवियों ने नेतृत्व के मुद्दे पर एक स्टैंड लिया है जो हमारे जैसे आम कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं है।
कांग्रेस का नेतृत्व सोनिया और राहुल गांधी को ही करना चाहिए: वडेट्टीवार
महाराष्ट्र के राहत और पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व सोनिया गांधी और राहुल गांधी को ही करना चाहिए। उनके नेतृत्व में पार्टी एक बार फिर पुराने वैभव को प्राप्त करेगी। विजय वडेट्टीवार ने कहा, ‘गांधी परिवार से ही कोई व्यक्ति राष्ट्रीय अध्यक्ष होना चाहिए। राहुल गांधी ने महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी चर्चा की थी और उनकी मंजूरी से ही हमने मिलकर सरकार बनाई है। अगर वह बोलेंगे तो हम महाराष्ट्र की सरकार से अलग भी हो सकते हैं। एक कांग्रेसी होने के नाते हाईकमान के फैसले के साथ हम रहेंगे’।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *