इस साल 1580 श्रद्धालु करेंगे कैलाश मानसरोवर की यात्रा: सुषमा स्वराज

नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज बताया कि इस साल करीब 1,580 श्रद्धालु कैलाश मानसरोवर की यात्रा करेंगे। सुषमा ने बताया कि दो मार्गों से यात्रा होगी एक नाथुला दर्रा (सिक्किम) और दूसरी लिपुलेख दर्रे (उत्तराखंड) के रास्ते से। उन्होंने कहा कि 50-50 श्रद्धालुओं के 10 जत्थे नाथुला दर्रा से और 60-60 श्रद्धालुओं वाले 18 जत्थे लिपुलेख दर्रे से अपनी यात्रा पूरी करेंगे। उन्होंने कि कि इस संबंध में चीनी समकक्ष से भी बात की गई है।
उन्होंने कहा कि मुझे इस बात की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि नाथुला मार्ग को फिर से खोल दिया गया है। उन्होंने कहा कि दो देशों के बीच संबंध कभी नहीं सुधर सकते जब तक लोगों के बीच में आपसी संबंध नहीं सुधरेंगे। सुषमा ने बताया कि कैलाश मानसरोवर के यात्रियों के लिए इस साल से हेल्पलाइन शुरू की है ताकि मार्ग में कोई समस्या होने पर यात्री सीधे हमें सूचित कर सके और उनकी मदद के लिए तत्काल कदम उठाए जा सकें। उन्होंने कहा कि जब सरकार दुनिया के किसी भी कोने में फंसे भारतीयों को निकाल लाती है तो मुसीबत में फंसे कैलास मानसरोवर के यात्रियों को कैसे नहीं निकाल नहीं लाएगी।
उन्होंने कहा कि इसके अलावा हर दल के साथ दो अधिकारी भेजने का भी फैसला किया है, जिससे किसी आपात स्थिति में बीच में रुकने वाले लोगों की मदद के लिए एक अधिकारी रुक कर उनकी मदद कर सके। इन अधिकारियों में एक अनुभवी और एक नया होगा। बता दें कि पिछले साल डोकलाम विवाद होने पर श्रद्धालुओं के लिए नाथूला दर्रे को बंद कर दिया गया था।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »