एशियन लिटरेरी सोसाइटी का तीसरा ALS Lit Fest संपन्न

नई दिल्ली। Asian Literary Society के उत्सव की शुरुआत सोसाइटी संस्थापक मनोज कृष्णन के स्वागत भाषण से हुई। गेस्ट ऑफ ऑनर, सुश्री मीनाक्षी नटराजन (प्रख्यात लेखक और पूर्व संसद सदस्या) और डॉ. परीक्षित सिंह (प्रख्यात लेखक और सीईओ, एक्सेस हेल्थ केयर फिजिशियन, फ्लोरिडा) ने इस मौके पर दर्शकों को सम्बोधित किया ।

पद्म श्री Malti Joshi Hansda (प्रख्यात लेखिका) और डॉ. सरोजनी तन्हा (प्रख्यात कवियत्री) ने आधुनिक साहित्य में महिला विमर्श विषय पर अपने विचार साझा किए। डॉ. अमरेन्द्र खटुआ (पूर्व सचिव, विदेश मंत्रालय) और प्रोफेसर नंदिनी साहू (निदेशक, स्कूल ऑफ फॉरेन लैंग्वेजेज, इग्नू) ने अंग्रेजी साहित्य के विउपनिवेशीकरण पर चर्चा की।

श्री अमित दासगुप्ता (पूर्व भारतीय राजनयिक और लेखक), श्री श्रीधर बालन (साहित्यिक स्तंभकार और लेखक), श्री वासुदेव मूर्ति (प्रबंध साझेदार, फोकल कॉन्सेप्ट्स और लेखक), और श्री प्रकाश अय्यर (संस्थापक-सीईओ, लीडरशिप वर्क्स और लेखक) ने क्रिएटिव नॉन-फिक्शन के बारे में बात की। “ब्लेंडिंग फैक्ट्स विथ फिक्शन” विषय पर एक पैनल चर्चा भी हुई, जिसमें पैनलिस्ट सुश्री बीना पिल्लई (प्रख्यात लेखिका), श्री सुहैल माथुर (प्रख्यात लिटरेरी एजेंट), श्री नील डीसिल्वा (प्रख्यात लेखक), और श्री मानस लाल (प्रख्यात लेखक और कलाकार) ने भाग लिया।

सुश्री मेरी बरुआ (संस्थापिका, एक्शन फॉर आटिज्म), श्री कुमार विक्रम (संपादक, नेशनल बुक ट्रस्ट), सुश्री मनोबीना चक्रवर्ती (संस्थापिका, आई फॉर इन्क्लूज़न ), और श्री मिहिर पिल्लई (दिव्यांगों की आवाज़) ने “साहित्य में दिव्यांगों का प्रतिनिधित्व” पर अपने विचार प्रस्तुत किये। “चार्टिंग कोर्स ऑफ़ किड लिट्” पर एक लाइव सेशन भी आयोजित किया गया, जिसमें सुश्री संथिनी गोविंदन (प्रख्यात लेखिका), सुश्री किरन बाबल (प्रख्यात लेखिका), डॉ सुधा सुब्रमण्यम (प्रख्यात लेखिका , और सुश्री मीना मिश्रा ( सीईओ, द इमपिश लैस पब्लिशिंग हाउस) ने बाल साहित्य के विभिन्न पहलुओं के बारे में बात की।

इस समरोह का एक और मुख्य आकर्षण श्री मनोज कृष्णन द्वारा इंडियन वुमन अचीवर्स अवार्ड्स, इंडियन वूमेन राइजिंग स्टार अवार्ड्स, ए एल एस एनुअल बुक अवार्ड्स के विजेताओं की घोषणा थी। श्री सुदर्शन कचेरी (सीईओ, ऑथोरप्रेस) ने अपने सत्र में सभी विजेताओं को बधाई दी। दो दिनों के इस आयोजन में, भारत और विदेश के कई प्रतिष्ठित कवियों ने अपने काव्य पाठ द्वारा श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।

सुश्री अनिता चंद (प्रशासिका , एएलएस), डॉ. अपर्णा बाग्वे (प्रशासिका, एएलएस), सुश्री ज़ेबा तबस्सुम (कार्यक्रम समन्वयक), डॉ. बिशाखा सरमा (प्रशासिका, एएलएस) सुश्री भावना मिश्रा (कार्यक्रम समन्वयक), और सुश्री लिप्पी परीदा (प्रशासिका, एएलएस) ने इन सत्रों को संचालित किया।

सभी विशिष्ट अतिथियों एवं श्रोतागणों ने एशियन लिटरेरी सोसाइटी के द्वारा आयोजित इस सफल कार्यक्रम की बेहद सराहना की।
– Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *