जापान में सोशल मीडिया पर इन दिनों चल रहा है #KuToo अभियान

पश्चिमी देशों में चले मी टू अभियान की तरह जापान में सोशल मीडिया पर इन दिनों #KuToo अभियान चल रहा है। इस अभियान के तहत सोशल मीडिया पर महिलाएं दफ्तरों में अनिवार्य ड्रेसकोड और हाई हील्स का विरोध कर रही हैं। जापान के दफ्तरों में महिलाओं के साथ पुरुषों के लिए भी ड्रेसकोड अनिवार्य है।
हाई हील के कारण कई बार महिलाओं को कई तरह की शारीरिक परेशानी भी होती है। जापान टाइम्स के अनुसार इसी के विरोध में महिलाओं ने सोशल मीडिया पर #KuToo अभियान शुरू किया है। दफ्तरों में अनिवार्य ड्रेसकोड और महिलाओं के लिए हाई हील्स अनिवार्य रहने के विरोध में #KuToo अभियान चलाया जा रहा है।
जापान में ड्रेसकोड और हाई हील्स के खिलाफ चलाए जा रहे इस अभियान को सोशल मीडिया पर काफी समर्थन मिल रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स हाई हील्स और फॉर्मल ड्रेस कोड अनिवार्य रखने को पुरानी सामंती मानसिकता को ही आगे ले जाने वाली परंपरा बताई जा रही है।
हाई हील्स के विरोध में महिलाओं का तर्क है कि इससे एड़ी में दर्द, कमर दर्द जैसी कई शारीरिक तकलीफों से भी गुजरना पड़ता है। महिलाओं ने इसके विरोध में लिखा, ‘जूते पहनने की बाध्यता नहीं होनी चाहिए। यह एक तरह की औरत विरोधी मानसिकता है, जिसमें महिलाओं को स्वास्थ्य की अनदेखी कर हाई हील्स पहनने पड़ते हैं।’
जापान के दफ्तरों में महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए ही ड्रेसकोड अनिवार्य है। पुरुषों को भी फॉर्मल ड्रेसकोड के साथ क्लीनशेव रहना अनिवार्य है। महिलाओं के ड्रेसकोड में हाई हील्स भी अनिवार्य है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »