सालाना 2.50 लाख से ज्यादा इनकम है, तो अब Tax बचाना होगा मुश्किल

नई दिल्‍ली। सालाना 2.50 लाख से ज्यादा इनकम है तो अब Tax बचाना मुश्किल होगा। सरकार अब ऐसे लोगों पर अपनी नकेल कसने जा रही है जिनकी सालाना इनकम 2.5 लाख से अधिक है और वो आईटीआर भी फाइल नहीं करते हैं।

केंद्र सरकार देश में इनकम टैक्स देने वालों की संख्या में इजाफा करने के लिए काफी लंबे समय से जद्दोजहद कर रही है। इस वित्त वर्ष में 1 करोड़ से अधिक लोगों को Tax दायरे में लाने का लक्ष्य है। इनकम टैक्स विभाग और वित्त मंत्रालय इसके लिए पूरी तरह से अपनी कोशिशों में लगे हुए हैं कि टैक्स का दायरा बढ़े।

डिपार्टमेंट भेज रहा है नोटिस
इनकम टैक्स विभाग ऐसे लोगों को नोटिस भेजकर जवाब मांग रहा है, जिनके बड़े ट्रांजेक्शन बहुत ज्यादा हुए हैं या वो देश-विदेश के महंगे होटल में रुके हैं।

लोगों की इनकम प्रोफाइल पर नजर
इसके लिए लोगों की इनकम प्रोफाइल पर इस वक्त काफी नजर रखी जा रही है। सरकार ने आपके पैन और आधार कार्ड को बैंक अकाउंट से लिंक कर दिया है। ऐसे में अब आपकी कोई भी छोटी या बड़ी आर्थिक गतिविधियों का पता लगाने में किसी प्रकार की कोई देरी नहीं होती है।

उदाहरण के तौर पर अगर आपने इस साल कोई कार या बाइक खरीदी है, तो उसके बारे में सरकार को आसानी से पता चल जाएगा। कार, बाइक खरीदने पर बनने वाली सेल्स इनवॉयस में आपके पैन कार्ड का उल्लेख करना जरूरी है। अब आपने कार, बाइक को कैश पर खरीदा है और यह आपकी इनकम से मिसमैच करता हुआ पाया गया तो आईटी डिपार्टमेंट नोटिस भेजकर जवाब मांग सकता है।

क्रेडिट-डेबिट कार्ड के ट्रांजेक्शन पर नजर

सरकार आपके क्रेडिट व डेबिट कार्ड से किए गए प्रत्येक महंगे ट्रांजेक्शन पर भी नजर रखती है। इसमें महंगा सामान खरीदना, विदेशों में घूमना, देश के बड़े फाइव स्टार होटलों में बिल का भुगतान करना शामिल हैं। अगर आप ऐसा करते हैं लेकिन अभी तक रिटर्न फाइल नहीं करते हैं, तो भी नोटिस आने के पूरे चांस हैं।

बैंक अकाउंट में किया इतने का ट्रांजेक्शन
अगर एक साल में आपके बैंक अकाउंट से 5 या फिर 10 लाख का ट्रांजेक्शन होता है, तो फिर नोटिस आने की संभावना है। बैंकों से प्रतिदिन उन अकाउंट्स के बारे में जानकारी ली जाती है, जिनमें किसी तरह का बड़ा कैश डिपॉजिट या विथड्रॉल होता है। इसलिए अगर आप आईटीआर फाइल नहीं करते हैं, तो फिर ऐसा करना शुरू कर दें, नहीं तो आपको काफी मुश्किल हो सकती है।
– एजेंसी