विराट कोहली और BCCI के बीच कम्युनिकेशन गैप है: संदीप पाटिल

मुंबई। भारत के दो पूर्व सिलेक्टर्स ने विराट कोहली के टी-20 वर्ल्ड कप-2021 के बाद टी-20 टीम की कप्तानी छोड़ने के निर्णय का स्वागत किया है। एक ने तो यह भी कहा कि सिलेक्टर्स के सामने विराट कोहली की सफल कप्तानी के बाद इस पर फैसला लेना मुश्किल होगा। साथ ही संदीप पाटिल ने यह भी कहा कि विराट कोहली और BCCI के बीच कम्युनिकेशन गैप है, जो हमें पिछले कुछ दिनों में देखने को मिला।
कोहली ने गुरुवार को सोशल मीडिया पर एक इमोशनल पोस्ट करते हुए अपने फैसले के बारे में जानकारी दी। 1983 वर्ल्ड कप विनिंग टीम के हीरो रहे संदीप पाटिल ने कोहली के इस फैसले को स्वागत किया है। उन्होंने कहा, मैं कोहली के फैसले का स्वागत करता हूं। यह भारतीय क्रिकेट और टीम इंडिया के लिए अच्छा फैसला है। उन्होंने कहा कि कप्तानी बैटिंग को प्रभावित करती है। इस दौर में काफी क्रिकेट होती है और जब आप कप्तानी के बोझ से अलग होते हैं तो बल्लेबाजी पर पूरी तरह फोकस करने में सहायता मिलेगी।
संदीप पाटिल के सिलेक्टर रहते ही कोहली तोप बल्लेबाज बने थे। इस दौरान पाटिल ने एक सवाल भी उठाया। उन्होंने कहा, पूरे मामले को देखा जाए तो विराट कोहली और बीसीसीआई में कम्युनिकेशन गैप सामने आता है। तभी तो कोहली कुछ और कहते हैं, जबकि बोर्ड के लोगों की राय अलग होती है। कुछ दिन पहले जब कोहली के कप्तानी छोड़ने की खबर मीडिया में आईं तो बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने इसे पूरी तरह से खारिज किया था। कप्तानी छोड़ने का फैसला पूरी तरह से विराट कोहली का है और बीसीसीआई को यह बात स्वीकार करनी चाहिए।
विराट कोहली को 2008 में पहली बार टीम इंडिया के लिए चुनने वाले दिलीप वेंगसरकर ने कोहली के फैसले को बाउंसर करार दिया है। उन्होंने कहा, मैं इसकी उम्मीद कर रहा था। वह पिछले 8 वर्षों से सभी फॉर्मेट में दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज हैं। वह कप्तानी से पहले वाला बैटिंग प्रदर्शन अपनी लीडरशिप के दौरान जारी नहीं रख सके थे। वह आईपीएल में भी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को कोई खिताब नहीं दिला सके हैं। यह भी उनके दिमाग में चल रहा होगा।
इसके साथ ही दोनों पूर्व क्रिकेटर्स ने अगले टी-20 कप्तान के रूप में रोहित शर्मा का समर्थन किया है। संदीप ने कहा, रोहित ने खुद को साबित किया है। दूसरी ओर वेंगसरकर ने कहा कि रोहित कप्तान बनने का हक रखते हैं। चाहे एशिया कप हो या कोई सीरीज, जब भी बीसीसीआई ने मौका दिया रोहित ने खुद को साबित किया। 5 आईपीएल खिताब इसका अच्छा उदाहरण है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *