विश्‍व के कई अन्‍य देशों में भी हैं देवादिदेव महादेव के मंदिर

भारतवर्ष में देवादिदेव महादेव के कई मंदिर है। इनमें कुछ पौराणिक है तो कुछ वर्तमान समय में बनाए गए हैं। कुछ मंदिरों में शिवलिंग स्वयंभू हैं तो कहीं वेदोक्त मंत्रों के द्वारा शिव स्वरूप शिवलिंग की स्थापना की गई है।
लेकिन हिंदुस्तान के बाहर भी कुछ शिव मंदिर अपने महत्व के कारण देश-विदेश में काफी प्रसिद्ध है। आइए अब बात करते हैं ऐसे ही कुछ खास ऐतिहासिक और आधुनिक मंदिरों की।
कटासराज मंदिर, पाकिस्तान
पाकिस्तान में पंजाब प्रांत के चकवाल जिले में पौराणिक कटासराज मंदिर स्थित है। इस मंदिर का निर्माण छठी से नौवीं शताब्दी के बीच किया गया था। मान्यता है कि शिव के आंसुओं से इस मंदिर के सरोवर का निर्माण हुआ था। पांडवों से भी इस मंदिर की कहानी जुड़ी हुई है। हर साल पाकिस्तान के अलावा हिंदुस्तान से भी तीर्थयात्रियों का जत्था कटासराज तीर्थ की यात्रा पर जाता है। भगवान शिव से जुड़े कुछ पर्वों को भी यहां पर धूमधाम से मनाया जाता है।
सागर शिव मंदिर, मॉरीशस
मॉरीशस के सागर शिव मंदिर पौराणिक न होकर आधुनिक है, लेकिन यह वास्तुकला का अद्भुत नमूना है। सागर शिव मंदिर का निर्माण साल 2007 में हुआ है। वर्तमान में मॉरीशस में रहने वाले हिंदुओं के लिए यह काफी पवित्र और मुख्य मंदिर है। इस मंदिर की खासियत मंदिर के परिसर में स्थित 108 फीट ऊंचा शिवलिंग है।
मुन्नास्वरम मंदिर, श्रीलंका
श्रीलंका में स्थित मुन्नास्वरम मंदिर भारत और श्रीलंका दोनों जगहों के हिंदू धर्मावलंबियों के लिए आस्था का एक महत्वपूर्ण केंद्र है। मंदिर परिसर में महादेव के साथ देवी काली की प्रतिमा स्थित है। मुन्नास्वरम मंदिर का वास्तु दक्षिण भारतीय द्रविड़ शैली में बना हुआ है और बेहद आकर्षक है।
पशुपतिनाथ मंदिर, नेपाल
नेपाल की राजधानी काठमाण्डू में स्थित शिव को समर्पित भगवान पशुपतिनाथ का मंदिर बहुत प्राचीन और पौराणिक होने के साथ दुनियाभर के हिंदुओं की आस्था का प्रमुख केंद्र है। यह मंदिर बागमती नदी के किनारे पर स्थित है। मंदिर काफी प्राचीन है इसलिए इसका शुमार यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में भी किया जाता है। हर साल करोड़ों श्रद्धालु देश-विदेश से यहां पर दर्शन के लिए आते हैं।
रामलिंगेश्वर मंदिर, मलेशिया
रामलिंगेश्वर मंदिर मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में स्थित है। इस मंदिर में सालभर श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा रहता है। साल 2012 में मलेशिया सरकार ने मंदिर और उसके आसपास के इलाके का प्रबंधन एक ट्रस्ट को सौंप दिया। अब ट्रस्ट इस मंदिर की देखभाल कर रहा है।
प्रंबानन मंदिर, इंडोनेशिया
इंडोनेशिया का प्रंबानन मंदिर काफी प्राचीन और पौराणिक है। इस मंदिर का निर्माण नौवीं शताब्दी में किया गया था। यह मंदिर इंडोनेशिया के जावा में स्थित है। इस मंदिर का शुमार दुनिया के सबसे बड़े मंदिरों में किया जाता है। प्रंबानन मंदिर 17 किलोमीटर के दायरे में फैला हुआ है। इसके पौराणिक महत्व और प्राचीन वास्तु को देखते हुए यूनेस्को ने इस मंदिर को विश्व विरासत का दर्जा दिया है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »