बहुत-से औषधीय गुण भी होते हैं प्राकृतिक औषधि कपूर में

कपूर का हिंदू परंपरा में धार्मिक महत्व है। यह पूजन-पद्धतियों का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। सर्दी के मौसम में पुराने ऊनी कपड़ों को कीड़ों आदि से सुरक्षित रखने के लिए भी कपूर का प्रयोग किया जाता है। इन सबके अलावा कपूर के बहुत-से औषधीय गुण भी होते हैं। यह शरीर तथा दिमाग दोनों को दुरुस्त रखने में मददगार होता है। जोड़ों के दर्द, जलने-कटने तथा अन्य कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं के लिए कपूर लाभकारी प्राकृतिक औषधि है। आज हम कपूर के विभिन्न फायदों के बारे में बात करेंगे।
बाल बढ़ाने में मददगार
बालों के न बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं लेकिन कपूर के तेल से इस समस्या से आसानी से निपटा जा सकता है। इसके लिए बालों वाले तेल में कपूर के तेल को मिलाइए और लगाइए। इससे सिर की त्वचा में रक्त प्रवाह बढ़ता है, जो कि बालों की वृद्धि में मदद करता है।
मच्छरों से बचाए
डेंगू मच्छरों के काटने से होने वाला एक घातक रोग है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि मच्छरों से बचाव किया जाए। कपूर मच्छरों को भगाने के लिए बेहतरीन उपाय है। इसके लिए कमरे में कपूर को जलाकर सारे खिड़की और दरवाजे बंद कर दें। यह कमरे के कोने में छिपे मच्छरों को मारने में मदद करता है और मलेरिया तथा डेंगू जैसी घातक बीमारियों से बचाता है।
दिमाग को रखे शांत
नींद न आना आजकल की आम समस्याओं में से एक है। कपूर के तेल की खूशबू दिमाग को शांत रखने और बेहतर नींद लाने में असरदार है। इसके लिए कपूर के तेल की कुछ बूंदों को अपने तकिए पर लगाएं और आराम की नींद सोएं।
बंद नाक खोले
सर्दियों में जुकाम हो जाना बहुत आम है। ऐसे में बंद नाक, सांस लेने में तकलीफ और छींक आने जैसी समस्याएं परेशान करती हैं। कपूर इस समस्या से निजात दिलाने वाला बेहतरीन उपाय है। इसके लिए एक बड़े कटोरे में पानी गर्म कीजिए और इसमें कपूर का एक टुकड़ा मिलाइए। अब अपने सिर और कटोरे को तौलिए से ऐसे ढंकिए कि स्टीम बाहर ना जाने पाए। अब इस भाप को नाक के रास्ते अंदर खींचिए।
खाज से दिलाए छुटकारा
खाज की वजह से त्वचा लाल पड़ जाती है। इससे निपटने के लिए कपूर के तेल को पानी में मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाइए।
नोट: अगर आपको पहले से किसी भी तरह की कोई बीमारी है तो कृपया डॉक्टर की सलाह के बाद ही बताए गए नुस्खों का इस्तेमाल करें।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »