…तो 6 दिसंबर को आत्‍मदाह कर लेंगे महंत परमहंस दास, चिता पूजन किया

अयोध्या। तपस्वी छावनी के उत्तराधिकारी महंत परमहंस दास ने 6 दिसंबर तक राम मंदिर निर्माण ना होने पर आत्मदाह की घोषणा की है।
शुक्रवार को महंत ने अपनी चिता का पूजन किया और मोदी और योगी सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर 5 दिसंबर तक राम मंदिर निर्माण का रास्ता नहीं निकलता है तो अगले दिन वह आत्मदाह कर लेंगे। परमहंस ने कहा कि बीते दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ मंदिर निर्माण के वादे पर अनशन को समाप्त किया था और उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से जल्द मुलाकात करके मुद्दे का हल निकालने की बात कही थी, लेकिन ना ही उनकी मुलाकात हो पाई और ना ही राम मंदिर को लेकर अभी तक कोई ठोस कदम उठाया गया।
उन्होंने कहा, ‘इसलिए अब मजबूर होकर मुझे अपना जीवन त्यागना होगा। मुझे उम्मीद है कि शायद मेरी मौत के बाद जो आंदोलन हो उससे सरकार चेते और अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो जाए।’
सतेंद्र दास ने कहा, ‘वे (आरएसएस और वीएचपी) पहले प्रचार करके बीजेपी को सत्ता में लाए, अब किसके खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं? अयोध्या में आयोजन का कोई मतलब नहीं है, इन लोगों को दिल्ली जाकर प्रदर्शन करना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि संसद और पीएम मोदी का घेराव करके वीएचपी को राम मंदिर पर अध्यादेश की मांग करनी चाहिए।’
दूसरी ओर राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सतेंद्र दास ने आगामी 25 नवंबर को अयोध्या में होने वाली वीएचपी की धर्मसभा को महत्वहीन करार देते हुए कहा है कि इस तरह का आयोजन दिल्ली में होना चाहिए।
सतेंद्र दास ने कहा, ‘वे (आरएसएस और वीएचपी) पहले प्रचार करके बीजेपी को सत्ता में लाए, अब किसके खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं? अयोध्या में आयोजन का कोई मतलब नहीं है, इन लोगों को दिल्ली जाकर प्रदर्शन करना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि संसद और पीएम मोदी का घेराव करके वीएचपी को राम मंदिर पर अध्यादेश की मांग करनी चाहिए।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »