…तो मैं केजरीवाल को गरीब क्लाइंट की तरह ट्रीट करुंगा: राम जेठमलानी

...Then I will treat Kejriwal as a poor client: Ram Jethmalani
…तो मैं केजरीवाल को गरीब क्लाइंट की तरह ट्रीट करुंगा: राम जेठमलानी

नई दिल्ली। अरुण जेटली द्वारा दायर किए गए मानहानि के केस में अरविंद केजरीवाल एंड पार्टी के वकील राम जेठमलानी ने कहा कि, ‘अगर (दिल्ली) सरकार मुझे पैसा (फीस) नहीं देगी या वह (केजरीवाल) पैसे नहीं दे सकते तो मैं उनके लिए मुफ्त में केस लड़ूंगा और उन्हें एक गरीब क्लाइंट की तरह ट्रीट करूंगा।’
दरअसल, जेटली द्वारा अरविंद केजरीवाल एंड पार्टी के खिलाफ किए गए मानहानि के केस में केजरीवाल की ओर से पेश होने वाले मशहूर वकील राम जेठमलानी की फीस को लेकर दिल्ली सरकार विवादों में घिरती जा रही है।
जेठमलानी ने केजरीवाल को उनकी ओर से पेश होने के बदले करीब 4 करोड़ रुपये का बिल भेज दिया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीते दिसंबर में उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने इस संबंध में दिल्ली सरकार के कानून विभाग को पत्र लिखकर फीस रिलीज करने को कहा था। हालांकि राम जेठमलानी ने कहा है कि, ‘अगर वह (केजरीवाल) पैसे नहीं दे सकते तो मैं उनके लिए मुफ्त में केस लड़ूंगा।’
Will work for free if Kejriwal cannot pay my fees: Jethmalani https://t.co/wnC0NEzA5P pic.twitter.com/kjfpiiWLT8
—ANI Digital (@ani_digital) April 4, 2017
इस पर विभाग का तर्क था कि पेंडिंग अमाउंट की कीमत करीब चार करोड़ रुपये है। दिल्ली सरकार ये बिल उसे (कानून विभाग) क्यों दे रही है जब यह मामला सिटी ऐडमिनिस्ट्रेशन का नहीं है।
जानकारी के मुताबिक उपराज्यपाल बैजल ने पेमेंट करने को लेकर सॉलिसिटर जनरल रंजीत कुमार को भी पत्र लिखा है।
उधर राम जेठमलानी ने बीजेपी के अरुण जेटली पर भड़काने का आरोप लगता हुए कहा है कि वह (जेटली) उनके क्रॉस-एग्जामिनेशन से डरते हैं। जेठमलानी ने कहा कि वह सिर्फ अमीरों से पैसे लेते हैं, गरीबों के लिए वह मुफ्त में काम (वकालत) करते हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *