संस्कृति यूनिवर्सिटी के छात्रों ने Hridyam designs का दिल जीता

कैम्पस प्लेसमेंट में आर्किटेक्ट के क्षेत्र की जानी-मानी Hridyam designs कम्पनी ने दिया सिविल इंजीनियर बनने का तोहफा

मथुरा। उच्च तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में संस्कृति यूनिवर्सिटी के छात्र लगातार कामयाबी दर कामयाबी हासिल कर संस्थान का नाम रोशन कर रहे हैं। शुक्रवार को हृदयम डिजाइनिंग के हुए कैम्पस प्लेसमेंट में संस्थान के सात छात्रों ने सिविल इंजीनियर तो दो छात्रों ने मार्केटिंग के क्षेत्र में सेवा का अवसर हासिल किया।
छात्रों ने अपनी इस सफलता का श्रेय संस्कृति यूनिवर्सिटी में कैम्पस पूर्व कराई जा रही तैयारियों को दिया।

शुक्रवार को आर्किटेक्ट के क्षेत्र की जानी-मानी संस्था हृदयम डिजाइनिंग संस्कृति यूनिवर्सिटी में कैम्पस प्लेसमेंट को आई। संस्कृति यूनिवर्सिटी के छात्रों की प्रतिभा परखने से पहले कम्पनी के सीनियर आर्किटेक्ट विपिन गोयल ने छात्रों को हृदयम डिजाइनिंग की कार्यप्रणाली के साथ ही उसके द्वारा देश के विभिन्न क्षेत्रों में तैयार किए जा रहे प्रोजेक्टों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

छात्रों को कम्पनी की कार्यशैली से अवगत कराने के बाद उनकी लिखित परीक्षा ली गई। लिखित परीक्षा में सफलता हासिल करने के बाद कम्पनी के अधिकारियों सीनियर आर्किटेक्ट विपिन गोयल, आर्किटेक्ट गोविन्द वार्ष्णेय और सिविल इंजीनियर एल.आर. परमार ने साक्षात्कार के माध्यम से छात्रों के तकनीकी कौशल को जांचा-परखा और संतुष्ट होने पर सात छात्रों को सिविल इंजीनियर तथा दो छात्रों को मार्केटिंग के क्षेत्र में उच्च पैकेज पर सेवा का अवसर प्रदान किया।

दीपक कुमार, राकेश कुमार, तरुण शर्मा, मोहम्मद अनस, विष्णु कुमार, भूपेन्द्र यादव, मनोज बतौर सिविल इंजीनियर तथा बृजेन्द्र सिंह व माधव चतुर्वेदी मार्केटिंग में हृदयम डिजाइनिंग से अपने करियर की शुरुआत करेंगे।

चयनित छात्रों ने कहा कि शिक्षा पूरी करने से पहले ही एक बड़ी कम्पनी में सेवा का अवसर मिलना हम सभी के लिए खुशी की बात है। छात्रों ने माना कि यह सब संस्कृति यूनिवर्सिटी में प्लेसमेंट पूर्व कराई जा रही तैयारियों के चलते सम्भव हुआ है।

संस्थान के कुलाधिपति सचिन गुप्ता और उप-कुलाधिपति राजेश गुप्ता का कहना है कि संस्कृति यूनिवर्सिटी का उद्देश्य छात्र-छात्राओं को कौशलपरक शिक्षा में दक्ष करना है ताकि वे अपनी प्रतिभा के बूते बड़ी-बड़ी कम्पनियों में नौकरी हासिल कर सकें। खुशी की बात है कि संस्थान के छात्र लगातार बड़ी-बड़ी कम्पनियों में अपनी प्रतिभा से नौकरी हासिल कर रहे हैं।

कार्यकारी निदेशक पी.सी. छाबड़ा, निदेशक इंजीनियरिंग डा. राकेश धीमान, हेड कार्पोरेट रिलेशन आर.के. शर्मा तथा मैनेजर कार्पोरेट रिलेशन तान्या उपाध्याय ने हृदयम डिजाइनिंग द्वारा चयनित छात्रों को बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »