दीवाली के दिन दागा गया बयान Virat Kohli के लिए मुसीबत बना

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान Virat Kohli का एक बयान काफ़ी विवादित हो गया है. बुधवार को Virat Kohli का एक बयान चर्चा में रहा जिसमें वो कह रहे हैं कि जिन्हें विदेशी बल्लेबाज़ पसंद हैं उन्हें भारत में नहीं रहना चाहिए. अब इस बयान को लेकर लोग Virat Kohli को सोशल मीडिया पर घेर रहे हैं.
लोग Virat Kohli के ख़िलाफ़ तीखी टिप्पणियाँ कर रहे हैं. इनमें से कुछ लोगों ने विराट Kohli के पुराने वीडियो और ट्वीट शेयर किए हैं जिनमें वो अपने पसंदीदा विदेशी खिलाड़ियों के बारे में बात कर रहे हैं.
साल 1988 में जन्मे विराट कोहली ने 2008 में भारतीय क्रिकेट टीम के लिए पहला वनडे मुक़ाबला खेला था. ये मैच खेलने से पहले उन्होंने ख़ुद बताया था कि उनके पसंदीदा बल्लेबाज़ हर्शल गिब्स हैं.
इस मैच का एक वीडियो शेयर करते हुए सामाजिक कार्यकर्ता तहसीन पूनावाला ने ट्वीट किया है कि “तो क्या विराट कोहली को साउथ अफ़्रीका भेज देना चाहिए था! लेकिन थोपा गया राष्ट्रवाद और ये पागलपन उस वक़्त चलन में नहीं थे.”
बहुत सारे लोगों ने डेक्कन क्रॉनिकल न्यूज़ की उस ख़बर को ट्वीट किया है जिसमें ब्रिटेन के बल्लेबाज़ जो रूट को विराट कोहली ने अपना पसंदीदा बल्लेबाज़ बताया था.
साल 2016 में छपी इस ख़बर के अनुसार भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड से कहा था कि न्यूज़ीलैंड के केन विलियम्सन और ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर के अलावा इंग्लैंड टीम के जो रूट उनके पसंदीदा खिलाड़ी हैं.
कुछ लोगों ने डीएनए न्यूज़ की एक ख़बर ट्वीट की है जिसमें स्विट्ज़रलैंड की एक घड़ी कंपनी के प्रचार इवेंट में विराट ने अपने ‘अल्टीमेट फ़ेवरेट’ खिलाड़ी के बारे में बताया था.
साल 2018 में छपी इस ख़बर के अनुसार विराट के सबसे पसंदीदा खिलाड़ी टेनिस स्टार रॉजर फ़ेडरर हैं.
उनके बारे में विराट ने कहा था, “रॉजर फ़ेडरर मेरे अल्टीमेट पसंदीदा हैं. वो शानदार खिलाड़ी हैं. वो अपने परिवार को समय देते हैं. आलोचनाओं की चिंता नहीं करते. जीवन में उनकी प्राथमिकताएं तय हैं. मैं उनका बहुत सम्मान करता हूँ.”
@SimplyAshokKr नाम के ट्विटर यूज़र ने विराट कोहली के एक पुराने ट्वीट को शेयर करते हुए लिखा है, “ये कौन बन्दा है. इसको बताओ कि अगर विदेशी खिलाड़ी को पसंद करते हो तो भारत में क्यों रह रहे हो?”
विराट ने इस ट्वीट में जर्मन खिलाड़ी ऐनजलीक़ केर्बर के लिए लिखा था, “ऑस्ट्रेलिया ओपन जीतने की शुभकामनाएं. आप आधिकारिक तौर पर मेरी पसंदीदा टेनिस खिलाड़ी हैं.”
‘भारत में नहीं रहना चाहिए’
दरअसल, बुधवार को विराट कोहली का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था जिसमें वो विदेशी बल्लेबाज़ों को पसंद करने वाले लोगों से भारत छोड़ने को कहते हैं.
बताया गया है कि ये वीडियो उनके जन्मदिन पर लॉन्च किए गए एक ऐप के लिए बनाया गया था. इस वीडियो में विराट ट्विटर और इंस्टाग्राम पर आए संदेशों को पढ़ते दिख रहे हैं.
इसी दौरान उन्होंने एक संदेश पढ़ा, जिसमें किसी ने उन्हें ‘ओवररेटेड’ खिलाड़ी कहा. यूज़र ने लिखा था, “आप ओवररेटेड खिलाड़ी हो. व्यक्तिगत तौर पर मुझे कुछ ख़ास नज़र नहीं आता. मुझे भारतीय बल्लेबाज़ों के मुक़ाबले ब्रितानी और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ ज़्यादा पसंद हैं.”
इसके जवाब में विराट कोहली ने कहा, “मुझे लगता है आपको भारत में नहीं रहना चाहिए… कहीं और रहना चाहिए. आप हमारे देश में रहकर अन्य देशों को क्यों पसंद कर रहे हैं? आप मुझे पसंद नहीं करते, कोई बात नहीं लेकिन मुझे नहीं लगता कि आपको हमारे देश में रहकर कहीं और की चीज़ें पसंद करनी चाहिए. अपनी प्राथमिकताएं तय कीजिए.”
विदेशी ब्रैंड्स और विराट
कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर उनके इटली जाकर शादी करने और विदेशी ब्रैंड्स का प्रचार करने के फ़ैसले पर भी सवाल उठाया है.
ट्विटर यूज़र आकाश बनर्जी ने लिखा है कि “शायद नवंबर के महीने में विराट कोहली को कुछ हो जाता है. इसी महीने में उन्होंने नोटबंदी को भारतीय इतिहास का सबसे अच्छा फ़ैसला बताया था.”
एक अन्य ट्वीट में आकाश ने @RunaRebel नाम के ट्विटर यूज़र को आंकड़े सामने लाने के लिए धन्यवाद दिया है और लिखा है, “कोई विदेश बल्लेबाज़ को पसंद करे तो देश छोड़े. लेकिन विराट कोहली विदेशी ब्रैंड्स को पसंद भी कर सकते हैं और उनका प्रचार भी करते हैं.”
आलोचनाओं की झड़ी
अशरफ़ नाम के एक ट्विटर यूज़र ने लिखा है, “विराट कोहली कहते हैं कि जो विदेशी खिलाड़ियों को देखना पसंद करते हैं उन्हें भारत में नहीं रहना चाहिए. लेकिन उन्होंने ख़ुद इटली नाम के देश में शादी की और विदेशी ब्रैंड्स का प्रचार कर रहे हैं.”
एक अन्य ट्विटर यूज़र सिद्धार्थ विशी ने ट्वीट किया, “विराट कोहली का ताज़ा बयान खेल भावना के विपरीत है. खेल में राष्ट्रीयता से परे प्रदर्शन की तारीफ़ की जाती है.”
राजेश झा नाम ने ट्विटर यूज़र ने लिखा है, “सभी अपनी राय रखने के लिए स्वतंत्र हैं. विराट कोहली एक बड़े आदमी हैं. उनकी राय लोगों पर ख़ासकर नौजवानों पर असर डाल सकती है. इसलिए ऐसी नफ़रत भरी बातें उन्हें सोचकर करनी चाहिए. जब तक विराट माफ़ी नहीं मांगते, लोगों को उन ब्रैंड्स का बहिष्कार करना चाहिए जिनका विराट कोहली प्रचार करते हैं.”
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »