जीवनसाथी की खुशी में छिपा है आपके लंबे जीवन का राज

हाल ही में की गई एक स्टडी में शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि अगर आपका जीवनसाथी खुश रहता है तो इससे न सिर्फ आपकी शादीशुदा लाइफ भी लंबी चलती है बल्कि आप लंबा जीवन भी जीते हैं।
कहा जाता है कि लाइफस्टाइल और खान-पान जितना हेल्दी होगा, आयु उतनी ही लंबी होगी यानि आप उतना ही ज्यादा जिएंगे, लेकिन जनाब लंबी जिंदगी जीने के लिए सिर्फ यही काफी नहीं है बल्कि आपको अपने पार्टनर को भी खुश रखने की जरूरत है। आपका पति या पत्नी खुश रहेगी तो ही आप लंबा जीवन जी पाएंगे। हाल ही में की गई एक स्टडी ने यह दावा किया है।
नीदरलैंड्स की टिलबर्ग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने हाल ही में की गई एक स्टडी में दावा किया कि अगर आपका जीवनसाथी खुश रहता है तो इससे न सिर्फ आपकी शादीशुदा लाइफ भी लंबी चलती है बल्कि आप लंबा जीवन भी जीते हैं। इस स्टडी में अमेरिका के 4,400 कपल्स पर 8 साल तक सर्वे किया गया था। प्रोसेस के दौरान उनसे कुछ सवाल पूछे गए। इनमें पार्टनर संग संतुष्टि से लेकर रिश्तों को लेकर सहजता तक सभी तरह के सवाल थे। इस स्टडी में सामने आया कि जिन लोगों के जीवनसाथी हमेशा खुश रहते हैं वे लंबा जीवन जीते हैं।
इस स्टडी में भाग लेने वाले कपल्स में से जिनकी मृत्यु हुई, उनकी जांच किए जाने पर पता चला कि वे पार्टनर संग अपने रिश्ते से संतुष्ट नहीं थे, अपनी लाइफ को लेकर भी संतुष्ट नहीं थे और तो और उनके पार्टनर यानी जीवनसाथी में भी संतुष्टि की कमी थी। इसी के आधार पर स्टडी ने दावा किया कि जिन लोगों के पार्टनर खुश रहते हैं वे जीवन की लंबी पारी का आनंद उठा पाते हैं। हालांकि अब इसका असल में क्या कनेक्शन है इसके बारे में तो कुछ कहा नहीं जा सकता है, लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि वे कपल्स जिनकी लाइफ से खुशी और संतुष्टि गायब हो जाती है, वे न तो ढंग से खाते हैं और न ही ऐक्सर्साइज करते हैं। इसकी वजह से उनकी आयुसीमा घट जाती है।
इस स्टडी की लेखिका Olga Stavrova के मुताबिक, ‘अगर आपका पार्टनर डिप्रेशन में है और वह अपनी शाम टीवी देखते और चिप्स खाते हुए गुजारना चाहता है तो मतलब साफ है कि उसी शाम उसी अंदाज में बीतेगी। मतलब वह कुछ अलग नहीं करना चाहेगा।’ उन्होंने आगे कहा, ‘यह शोध कई तरह के प्रश्नों को प्रभावित कर सकता है जैसे कि अपना जीवनसाथी चुनते वक्त हमें किन बातों पर सबसे अधिक ध्यान देना चाहिए और हेल्दी लाइफस्टाइल रेकमंडेशन्स को कपल्स के बजाय अलग-अलग व्यक्तियों पर टारगेट करना चाहिए।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »