प्रधानमंत्री ने कहा, पुलवामा हमले में शहीद जवानों का बलिदान व्‍यर्थ नहीं जाने देंगे

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है। मोदी ने ट्वीट किया कि पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुआ हमला बेहद घृणित है। मैं इस कायराना हमले की कठोर निंदा करता हूं। हमले में शहीद हुए जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। पूरा देश शहीदों के परिवार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।
प्रार्थना करता हूं कि घायल जल्द ठीक हों। मोदी ने बताया कि उन्होंने इस मामले में सुरक्षा एजेंसियों के शीर्ष अधिकारियों और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से विस्तार से जानकारी ली है। केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने भी ट्वीट कर हमले की निंदा करते हुए कहा कि इसका बदला लिया जाएगा।
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हमले के बाद जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक, सीआरपीएफ के डीजी आरआर भटनागर से बात की। राजनाथ ने शुक्रवार को पटना में होने वाली रैली रद्द कर दी है और अब वे कश्मीर का दौरा करेंगे। दूसरी ओर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने सीआरपीएफ के सीनियर अधिकारियों से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली।
पूर्व सेना प्रमुख और विदेश राज्यमंत्री जनरल वी के सिंह भी इस हमले से छुब्ध नजर आए। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि इस कायरतापूर्ण हमले से उनका खून खौल रहा है। सीआरपीएफ के 18 बहादुर जवानों ने पुलवामा में अपने जीवन का बलिदान कर दिया। उन्होंने ने आगे लिखा, मैं उनके इस निःस्वार्थ बलिदान सलाम करता हूं और वादा करता हूं कि हमारे जवानों के खून की एक-एक बूंद का बदला लिया जाएगा।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जम्मू-कश्मीर में हमले को कायरतापूर्ण हमला करार दिया। उन्होंने ने ट्वीट कर शहीदों के परिवारों के प्रति संवेदना दी और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना की।
जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला व महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर आतंकी हमले की निंदा की है।
राज्यपाल ने की हमले की निंदा
जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है। उन्होंने हमले में जान गंवाने वाले बहादुर सैनिकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है और हमले में घायल हुए सभी लोगों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना की है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »