प्रधानमंत्री ने कहा, कांग्रेस वह सब करना चाहती है जो पाकिस्‍तान चाहता है

मुंबई। महाराष्ट्र के लातूर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के घोषणापत्र पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कि कांग्रेस देशद्रोह का कानून हटाना चाहती है, अराजकता फैलाने वालों से बात करना चाहती है, जम्मू-कश्मीर से धारा 370 नहीं हटाना चाहती, यही सब पाकिस्तान चाहता है।
पीएम नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर आज जमकर हमला बोला है। कांग्रेस के घोषणापत्र को ‘ढकोसला पत्र’ बताते हुए पीएम ने कहा कि ये केवल कांग्रेस के वादे हैं। मध्य प्रदेश में सीएम कमलनाथ के करीबियों पर आयकर विभाग के छापों का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि वे 6 महीने से ‘चौकीदार चोर है’ बोल रहे थे लेकिन बक्सों में भरकर नोट कहां से निकला? पीएम ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के घोषणापत्र में किए वादे वही हैं जो पाकिस्तान चाहता है।
बक्सों में भरकर निकले नोट: पीएम मोदी
महाराष्ट्र के लातूर में जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश में सीएम कमलनाथ के नजदीकियों के घर-दफ्तर पर मारे गए आयकर विभाग के छापों को लेकर निशाना साधा।
उन्होंने कहा, ‘आपने देखा होगा कल-परसों कांग्रेस के दरबारियों के घर से बक्सों में नोट निकली हैं, नोट से वोट खरीदने का यह पाप इनकी राजनैतिक संस्कृति रही है। यह पिछले 6 महीने से बोल रहे हैं ‘चौकीदार चोर है’ लेकिन वोट कहां से निकले? असली चोर कौन है?’
पीएम का आरोप, कांग्रेस की सोच देश विरोधी
कांग्रेस पर बरसते हुए पीएम ने कहा कि कांग्रेस और उसके साथियों की देश विरोधी सोच है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 किसी भी कीमत पर नहीं हटाई जाएगी। जो बात कांग्रेस का ढकोसला पत्र कह रहा है, वही भाषा पाकिस्तान बोल रहा है। कांग्रेस का कहना है कि जम्मू-कश्मीर में अराजकता फैलाने वालों से बातचीत करेंगे, पाकिस्तान भी यही कह रहा ताकि भारत इन्हीं बातों में उलझा रहे। कांग्रेस कह रही है कि हिंसा वाले इलाकों में सेना को मिले विशेष अधिकार वापस ले लेंगे। कांग्रेस ने घोषणा की है कि देश के टुकड़े करने वालों को खुला लाइसेंस देंगे, देशद्रोह का कानून खत्म करेंगे, पाकिस्तान भी यही चाहता है कि भारत के खिलाफ बातें करने वालों को खुली छूट मिल जाए।’
एयर स्ट्राइक पर सवाल पर कांग्रेस को घेरा
पीएम ने जम्मू-कश्मीर और पाकिस्तान पर की एयर स्ट्राइक पर किए गए सवालों को लेकर कांग्रेस की खूब आलोचना की। उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रवाद हमारी प्रेरणा है, अंत्योदय हमारा दर्शन है और सुशासन हमारा मंत्र है। इसी भावना पर नए भारत के निर्माण के लिए हम देश के हर नागरिक की भागीदारी चाहते हैं। एक तरफ हमारी नीति-नियत है, और दूसरी तरफ विरोधियों का दोहरा रवैया है।’
याद दिलाई बाला साहेब पर की गई कार्यवाही
उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने घोषणापत्र में कहती है कि देशद्रोह के कानून को खत्म करेंगे। अगर 1947 में वह ऐसी हिम्मत के साथ खड़ी होती कि देश का बंटवारा नहीं होने देंगे, तो पाकिस्तान पैदा ही नहीं होता। शिवसेना के संस्थापक बाला साहेब ठाकरे को लेकर भी कांग्रेस की आलोचना की और कहा कि कांग्रेस के मुंह से मानवाधिकार की बातें शोभा नहीं देतीं। कांग्रेस ने बाला साहेब की नागरिकता छीन ली थी, मतदान करने का अधिकार छीन लिया था।
‘शरद पवार वहां शोभा नहीं देते’
कांग्रेस की सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार पर भी पीएम ने निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस और एनसीपी जम्मू-कश्मीर के लिए अलग पीएम चाहने वालों के साथ खड़ी हो गई हैं। पीएम ने कहा कि कांग्रेस से तो देश को कोई उम्मीद नहीं लेकिन शरद पवार को यह शोभा नहीं देता। उन्होंने कहा, ‘राजनीति अलग है, शरद पवार वहां शोभा नहीं देते।’
एयर स्ट्राइक के सबूत को लेकर विपक्ष पर बरसे
पुलवामा पर सीआरपीएफ काफिले पर हुए हमले जवाब में भारत की ओर से की गई एयर स्ट्राइक के अगले दिन गिराए पाक सेना के F16 विमान पर किए गए सवालों के लिए भी पीएम ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा, ‘मुझे यह कहते हुए गालियां दे रहे हैं कि भारत ने पाकिस्तान का कोई लड़ाकू विमान नहीं गिराया। प्यारे कांग्रेस के नौजवानों, बुजुर्गों, देश की सेना, वायुसेना से कितने सबूत चाहिए।’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने पहले कहा कि उसने भारत के दो विमान गिराए हैं और एक पायलट को हिरासत में लिया है और शाम को कहने लगा कि एक ही विमान और पायलट को गिराया है। ऐसे में दूसरा विमान कहां गया, यह बात छोटा बच्चा भी समझ सकता है।
आतंकवादियों के अड्डे में घुसकर मारना नए भारत की नीति
पीएम ने कहा कि आतंकवादियों के अड्डे में घुसकर मारना नए भारत की नीति है। पीएम ने दावा किया कि स्थिति सामान्य बनाने के एनडीए के संकल्प के परिणाम दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि घुसपैठियों की पहचान वादा किया गया था और यह बड़ा काम शुरू हो चुका है। साथ ही, पीएम ने कहा कि नक्सलियों पर प्रहार और आदिवासियों तक विकास का लाभ पहुंचाने के लिए सरकार ने दिन-रात मेहनत की है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *