15 महीने बाद भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है ढाई लाख का इनामी बदन सिंह बद्दो

मेरठ। वेस्ट यूपी का विकास दुबे कहा जा रहा मेरठ का ढाई लाख का इनामी हिस्ट्रीशीटर बदन सिंह बद्दो भी पुलिस को चुनौती देकर फरार है। पुलिस हिरासत से भागने के बाद यह शातिर 15 महीने बाद भी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ सका। यह हालात तब हैं जब वह बार-बार वीडियो और ऑडियो विदेश के नंबरों से जारी कर रहा है। उसका लुकआउट नोटिस जारी होने के बाद भी पुलिस उसके पास तक फटकने में नाकाम है। कानपुर की घटना के बाद पुलिस और एसटीएफ फिर से बद्दो की तलाश में जुटने का दावा कर रही है।
दरअसल, कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की शहादत बाद शासन से जारी 25 मोस्ट वॉन्टेड क्रिमिनल की लिस्ट में मेरठ के हिस्ट्रीशीटर बदन सिंह बद्दो का नाम टॉप पर है। बद्दो 28 मार्च 2019 को जेल से गाजियाबाद जाते वक्त मेरठ में हिरासत से फरार हो गया था। मिलीभगत में छह पुलिसकर्मी समेत 18 लोग जेल जा चुके हैं। पहले बद्दो की लोकेशन पंजाब, मुंबई और दक्षिण भारत में मिलने का दावा था।
अब पुलिस ने उसके विदेश भागने की पुलिस ने आशंका जताई है। इसी वजह से बद्दो के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी हुआ था। बद्दो के सोशल मीडिया पर वायरल हुए कई वीडियो में विरोधियों से बदला लेने का एलान किया गया था। पहले लुकआउट नोटिस की अवधि खत्म होने पर 28 मार्च 2020 को फिर से लुकआउट नोटिस की अवधि आगे बढ़ाई गई।
पुलिस की नाकामी के बाद एसटीएफ को उसकी धरपकड़ के लिए लगाया गया था। फिर विकास दुबे की तरह उस पर भी इनाम बढ़ाकर ढाई लाख कर दिया लेकिन पुलिस और एसटीएफ उसे नहीं पकड़ सकी। कानपुर कांड के बाद बदन सिंह बद्दो की पुलिस को फिर याद आई है, लेकिन अभी यह पता नहीं लग सका कि वह देश में है या विदेश में। मेरठ पुलिस का कहना है कि बद्दो समेत दूसरे क्रिमिनल की भी तलाश में कई टीम लगाई गई हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *