बागपत में पीएम ने कहा, एनडीए सरकार के काम को देखकर कुछ लोग बौखलाए हुए हैं

बागपत। ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे को राष्ट्र को समर्पित करने के मौके पर पीएम ने अपने चार साल का रिपोर्ट कार्ड भी देश की जनता के सामने रखा। बागपत में पीएम ने कहा कि इस भीषण गर्मी में भी जिस बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हैं, उससे साफ है कि सरकार सही दिशा में बढ़ रही है। पीएम मोदी ने इस दौरान कांग्रेस पर हमला बोलने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी। मोदी ने कहा कि पीढ़ी दर पीढ़ी परिवार में सत्ता देखने वाले लोग अब गरीबों के लिए किए जा रहे काम का मजाक उड़ा रहे हैं।
मोदी ने कहा कि एनडीए सरकार के काम को देखकर कुछ लोग बौखलाए हुए हैं। मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस ने देश की सर्वोच्च अदालत पर भी सवाल खड़े किए। अब उन्हें देश का मीडिया भी पक्षपाती नजर आ रहा है। सर्जिकल स्ट्राइक करने वाली सेना के साहस को भी नकारते हैं। देश की तारीफ करने वाली इंटरनेशनल संस्थाओं का भी मजाक बनाते हैं। कांग्रेस की परेशानी का कारण सब जानते हैं। मोदी के विरोध में वे लोग देश का भी विरोध करने लगे। जिसके पास सवा सौ करोढ़ लोगों का विश्वास हो, वह किसी के आरोप से डिगने वाला नहीं है।
मोदी ने कहा कि जनता तय करे कि इस तरफ कौन है और उस तरफ कौन है। मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस के लिए उनका परिवार ही उनका देश है। मोदी के लिए देश ही उसका परिवार है।’ मोदी ने कहा, ‘कुछ लोग अपनी जमीन खिसकती देख झूठ बोलने से भी परहेज नहीं करते हैं। उन्होंने आरक्षण को लेकर झूठ बोला और अब आजकल एक नया झूठ किसानों को लेकर बोला जा रहा है।’ मोदी कहा कि कांग्रेस झूठ फैला रही है कि जो किसान अपनी जमीन बंटाई या ठेके पर देगा उसे 18 प्रतिशत जीएसटी चुकाना होगा। मोदी ने कहा, ‘ऐसे झूठ फैलाने वालों को शर्म आनी चाहिए। देश के किसान को गुमराह करने का काम किया जा रहा है।’ मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ग्रामोदय से भारत उदय की तरफ बढ़ रही है। ग्राम उदय के केंद्र में देश का किसान है।
मोदी ने कहा कि देश के हर गांव को इंटरनेट से जोड़ने के लिए काम तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की यूपीए सरकार अपने चार साल में 59 पंचायतों को ही ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ पाई थी, हमने एक लाख से ज्यादा पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा है। मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ओबीसी कमीशन को संवैधानिक दर्जा देना चाहती थी लेकिन यूपीए ने इस कानून को अभी तक पास नहीं होने दिया। मोदी ने कहा, ‘मैं वादा करता हूं कि जो कदम उठाया है, उसे पूरा करके रहूंगा।’
मोदी ने कहा, ‘जिन दो आधुनिक एक्सप्रेस-वे का उद्धाटन किया, वह हमारी सरकार के काम करने का सैंपल है।’ ये रोड दिल्ली-एनसीआर और पश्चिमी यूपी के लोगों के जीवन को सुगम बनाएंगी। ये दोनों प्रॉजेक्ट आधुनिक तकनीक से लेस हैं। सोलर एनर्जी से बिजली की व्यवस्था की गई है। मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने हाइवे, रेलवे, एयरवे और वॉटरवे पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया है। 3 लाख करोड़ से ज्यादा खर्च हाइवे बनाने में किया है। चार साल पहले जहां एक दिन में सिर्फ 12 किमी हाइवे बनते थे, आज 27 किमी बनते हैं।
मोदी ने कहा कि पिछले एक साल में जितने लोगों ने ट्रेन के एसी डिब्बे में यात्रा की उससे ज्यादा हवाई यात्रा की। यह हमारी सरकार का रिपोर्ट कार्ड है। मोदी ने कहा कि 100 से ज्यादा वॉटर वे बनाए जा रहे हैं। गंगा के माध्यम से यूपी सीधे समुद्र से जुड़ने वाला है। यमुना को लेकर भी योजनाएं बन रही हैं। मोदी ने बताया कि मेक इन इंडिया के माध्यम से उत्पादन को बढ़ावा दिया जा रहा है। चार साल पहले देश में सिर्फ दो मोबाइल बनाने वाली फैक्ट्रियां थीं। आज 120 फैक्ट्रियों में मोबाइल बन रहा है। कई एनसीआर में ही हैं। मोदी ने कहा बिजनस और व्यापार के लिए सबसे ज्यादा जरूरी सुरक्षित माहौल होता है। मोदी ने कहा, ‘यूपी सरकार में अपराधी खुद ही सरेंडर कर रहे हैं। अपराधी खुद अपराध न करने की शपथ ले रहे हैं।’
मार्च तक साफ निर्मल होगी गंगा
इससे पहले कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़ के लोगों को उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड जाने के लिए दिल्ली होकर जाना पड़ता था लेकिन ईस्टर्न पेरिफेरल से यह सफर अब छोटा हो जाएगा। इससे हाइवे से 27 प्रतिशत प्रदूषण कम होगा, 41 प्रतिशत ट्रैफिक जाम से छुटकारा मिलेगा। गडकरी ने कहा कि गंगा के आधे से ज्यादा प्रॉजेक्ट पूरे हो चुके हैं। अगले मार्च तक 70 से 80 प्रतिशत गंगा निर्मल होगी।
गन्ना किसानों को कराया भुगतान
ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में विकास को काफी ऊंचाई तक ले जाएगा। मात्र 500 दिनों में इसका निर्माण करके गडकरी ने कुशल नेतृत्व का परिचय दिया है। बागपत किसान नेता चरण सिंह की भूमि है। रमाना चीनी मिल के लिए 400 करोड़ रुपये दिया है। योगी ने कहा कि 21 हजार करोड़ रुपये का भुगतान गन्ना किसानों को कराया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »