देवदूतों के लिए कुछ इस तरह THANKS बोल रहे हैं केरल के लोग

तिरुवनंतपुरम। जरा सोचिए! हर तरफ पानी ही पानी हो, घर ऐसा लग रहा हो जैसे पानी में तैरती कागज की नाव हो, जीवन खतरे में हो और हम ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हों तभी देवदूत बनकर पहुंचते हैं सेना के बहादुर जवान। सेना की वजह से जान बचती है तो हम दिल की गहराइयों से जवानों को शुक्रिया भी अदा करते हैं। केरल में आई भीषण बाढ़ के दौरान सेना के जवानों ने हजारों लोगों को नई जिंदगी दी है। अब लोग अपने-अपने तरीके से उनका शुक्रिया भी अदा कर रहे हैं। ऐसी ही एक तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी शेयर की जा रही है।
भारतीय नौसेना के ट्विटर हैंडल से सोमवार सुबह एक घर की छत पर अंग्रेजी में THANKS लिखी तस्वीर शेयर की गई।
दरअसल, 17 अगस्त को इसी घर से भारतीय नौसेना के कमांडर विजय वर्मा ने बड़ी बहादुरी से दो महिलाओं को बचाया था। अब इस इलाके में पानी कम हो गया है और लोग अपने घरों की ओर लौटने लगे हैं। इस बीच उसी घर की छत पर सफेद रंग से ‘THANKS’ पेंट किया देखा गया है।
यह तस्वीर हेलिकॉप्टर से काफी ऊपर से ली गई है। इसे शेयर करते हुए लोग सोशल मीडिया पर केरल बाढ़ में जवानों के जज्बे और सेवा भाव की जमकर तारीफ कर रहे हैं। केरल में जवानों की बहादुरी के कई वीडियो भी सामने आए हैं। जवानों ने अपनी सूझबूझ से बड़ी संख्या में महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों को बचाया है।
आपको बता दें कि हाल ही में कमांडर विजय वर्मा ने ही एक प्रेग्नेंट महिला को सुरक्षित तरीके से एयरलिफ्ट कर अस्पताल पहुंचाया था। कुछ समय बाद ही महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया और दोनों स्वस्थ हैं। वर्मा को परिवार ने दिल से शुक्रिया अदा किया है। बाद में वर्मा ने कहा कि यह काफी चुनौतीपूर्ण टास्क था। सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में दिखाई देता है कि प्रेग्नेंट महिला को कैसे एक चॉपर से उसके घर की छत से रेस्क्यू किया जाता है।
केरल में राहत एवं बचाव कार्य व्यापक स्तर पर चलाया जा रहा है। 2 लाख से ज्यादा परिवार राहत शिविरों में हैं। जो लोग अपने घरों में हैं उनके लिए चॉपर से खाने और पीने के सामान गिराए जा रहे हैं। एक दिन पहले सेवा भाव को दर्शाता एक और वीडियो सामने आया था। इसमें एक व्यक्ति बाढ़ के पानी में झुका दिखाई देता है, जिससे उसके ऊपर पैर रखकर महिला और बुजुर्ग नाव में सुरक्षित तरीके से बैठ सकें। अपने शरीर को ही सीढ़ी के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए इस ‘गुमनाम हीरो’ की खूब प्रशंसा हो रही है।
नेवी द्वारा शेयर किए एक अन्य वीडियो में दिखाई देता है कि कैसे एक जवान ने बाढ़ प्रभावित अलुवा के एक घर से दो साल के मासूम को बचाया। चॉपर से रेस्क्यू किए जाते समय जवान ने मासूम को अपने सीने से चिपकाया हुआ था, जिससे उसे कोई खतरा न हो। चॉपर में चिंतित बैठी मां अपने कलेजे के टुकड़े को पाते ही उस जवान का शुक्रिया अदा करती दिखाई देती हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »