ACB के छापे में 100 करोड़ रुपए की संपत्ति का मालिक निकला लाइन इंस्पेक्टर

नेल्लोर। आंध्र प्रदेश में पिछले महीने एक चपरासी के पास 100 करोड़ रुपए से ऊपर की संपत्ति मिलने के बाद हड़कंप मच गया था। अब एक और जूनियर रैंक का अधिकारी भ्रष्‍टाचार निरोधक ब्‍यूरो ACB के हत्थे चढ़ा है, जिसकी संपत्ति की जांच कर रहे अफसर भी लगातार बढ़ते आंकड़े देखकर दंग रह गए। ACB ने इस जूनियर रैंक के अधिकारी की संपत्ति का भी अनुमान करीब 100 करोड़ रुपये का लगाया है।
ACB से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी की पहचान एस लक्ष्मी रेड्डी के रूप में हुई है जो नेल्लोर स्थित एपी ट्रांसको के असिस्टेंट एक्जिक्युटिव इंजिनियर कार्यालय में लाइन इंस्पेक्टर के रूप में काम करता है।
पांच जगहों पर छापे
जांच अधिकारियों ने नेल्लूर और प्रकाशम जिले में एक साथ पांच जगहों पर छापे मारे। एक अधिकारी ने बताया कि गुरुवार सुबह करीब 6.30 बजे सर्च ऑपरेशन शुरू किए जो कि देर शाम तक जारी रहा। अधिकारियों के मुताबिक आरोपी लक्ष्मी रेड्डी के पास दोनों जिलों में कई एकड़ कृषि योग्य भूमि के साथ ही कई आलीशान मकान हैं। प्रारंभिक अनुमान के मुताबिक करीब 100 करोड़ की संपत्ति का उसके पास है।
अधिकारियों के मुताबिक आरोपी ने 1993 में आंध्र प्रदेश के दक्षिणी विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड (एसपीडीसीएल)में हेल्पर के रूप में नौकरी शुरू की। 1996 में उसे असिस्टेंट लाइनमैन के रूप में प्रमोशन मिला। वर्ष 2014 से वह बोगोलू मंडल में मुंगमुरु गांव में लाइन इंस्पेक्टर के रूप में कार्यरत है।
ज्यादातर संपत्ति पत्नी के नाम
एसीबी ने एक साथ रेड्डी के कई ठिकानों पर गुरुवार को छापे मारे। इस दौरान उसके पिता के घर, उसके दामाद और दोस्तों के घर पर छापे पड़े। एसीबी अधिकारियों ने बताया कि डॉक्यूमेंट के मुताबिक उसके नाम पर करीब 57.50 एकड़ खेत, छह आलीशान मकान और दो हाउस प्लॉट हैं। इसके अलावा करीब 9.95 लाख रुपये का बैंक बैलेंस और कई गाड़ियां भी हैं।
एसीबी सूत्रों के मुताबिक इसमें से ज्यादातर अवैध रकम घूस के बतौर लिया गया है। इसके अलावा एसीबी को यह भी आशंका है कि आरोपी ने विभाग में उपलब्ध होने वाले सरकारी सामान को भी बेचा है। ज्यादातर संपत्ति को आरोपी ने अपनी पत्नी के नाम कर रखा है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »