Orientation में बताया BBA व BSC कम्प्यूटर साइंस का महत्व

मथुरा। राजीव एकेडमी फाॅर टेक्नोलाॅजी एंड मैनेजमेंट में Orientation के साथ BBA तथा BSC कम्प्यूटर साइंस का शिक्षण कार्य प्रारम्भ हो गया। Orientation के साथ ही नए शिक्षण सत्र का शुभारम्भ अतिथियों व निदेशक डाॅ. अमर सक्सेना द्वारा मां सरस्वती के विग्रह के समक्ष पुष्पार्चन और दीप प्रज्वलित कर किया गया।

इस अवसर पर बीबीए व सीएस के सीनियर छात्र-छात्राओं ने अपने नए साथियों का स्वागत करते हुए राजीव एकेडमी के पूरे शिक्षा सत्र में होने वाली समस्त शैक्षिक गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

Orientation में Enterprise Sale की डिजिटल कंसल्टेंट ऐश्वर्या भाटिया ने बीबीए के नव-प्रवेशित छात्र-छात्राओं को राजीव एकेडमी के शिक्षण का महत्व बताते हुए कहा कि बीबीए के विद्यार्थी को बहुत सारी बातें सीखनी होती हैं। नवप्रवेशितों के साथ अपना अनुभव शेयर करते हुए उन्होंने कहा कि आपको सबसे पहले अपने प्रोफाइल व व्यक्तित्व का ज्ञान होना आवश्यक है। साथ ही ज्ञानार्जन के लिए आई.टी. के साधनों का अधिकाधिक प्रयोग जरूरी है। इस अवसर पर नवागंतुक छात्र-छात्राओं ने मार्केटिंग, ब्राण्डिंग, एचआर आदि शाखाओं के विषय में कई प्रश्न पूछे। ऐश्वर्या भाटिया ने प्रश्नों के उत्तर में कहा कि आपको कक्षाकक्ष में अपने आत्मविश्वास को ऊंचाइयों पर ले जाने का अच्छा मौका मिलता है। कक्षाकक्ष में समूह के साथ बैठकर प्राप्त किया गया ज्ञान आपको ऐसी मजबूती देता है जिससे आप स्वयं के लिए एक सशक्त प्लेटफार्म तैयार कर सकते हैं। ऐश्वर्या भाटिया ने कहा कि मुझे अध्ययन के दौरान आरएटीएम में सम्पूर्ण जानकारी मिली यही वजह है कि मुझे लन्दन में अच्छा जाब मिला। ऐश्वर्या ने नव-प्रवेशितों को अनेक प्रकार की जानकारियां सर्च करने के तरीके तथा कम्पनियों के प्लेसमेंट इण्टर्नशिप, मार्केटिंग आदि के साथ ही बीबीए के सभी प्रश्न-पत्रों में पूछी जाने वाली भावी अपडेट्स की जानकारी दी। इस अवसर पर टूपैक साफ्टवेयर साल्यूशन के संस्थापक आयुष तिवारी ने छात्र-छात्राओं को बताया कि कम्प्यूटर साइंस में बीएससी करने के साथ करियर के ढेर सारे विकल्प खुल जाते हैं। उन्होंने कहा कि इस कोर्स के बाद एमबीए, एमसीए तथा आईटी की किसी भी शाखा में जाने का रास्ता खुल जाता है।

आर.के. एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल ने कहा कि भविष्य का निर्धारक विद्यार्थी जीवन ही होता है। विश्व की महान हस्तियों का विद्यार्थी जीवन कांटों भरा रहा है, परन्तु इस सफर को उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से पार किया, तभी हम उन्हें आज याद करते हैं। वाइस चेयरमैन पंकज अग्रवाल ने कहा कि छात्र-छात्राएं अपनी प्रबल इच्छाशक्ति, कठिन परिश्रम और साहस के बल पर दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींच सकते हैं। प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने कहा कि राजीव एकेडमी लगातार शिक्षण पद्धति के अपडेशन व अनुशासन की पक्षधर रही है। यहां युवा पीढ़ी को गुणवत्तायुक्त शिक्षा व स्वस्थ शैक्षिक वातावरण मिलता है। निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने नवागंतुक छात्र-छात्राओं को नए शैक्षिक सत्र के दौरान आयोजित होने वाले प्लेसमेंट, साक्षात्कार, पीडीपी क्लास, गेस्ट लेक्चर, कार्यशाला, सेमिनार, इंडस्ट्रियल विजिट आदि के बारे में जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »