श्रीलंका के पूर्व कप्‍तान ने धवन की कप्‍तानी वाली टीम को दोयम दर्जे की टीम बताया

कोलंबो। श्रीलंका के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने सीमित ओवरों की सीरीज के लिए ‘दूसरी श्रेणी की भारतीय टीम’ की मेजबानी करने के लिए अपने देश के क्रिकेट बोर्ड की कड़ी आलोचना की है।
रणतुंगा का कहना है कि यह अपमान से कम नहीं है। भारत और श्रीलंका के बीच 13 जुलाई से तीन वनडे और इतने ही टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों की श्रृंखलाएं खेली जाएंगी।
भारत ने कप्तान विराट कोहली और सीमित ओवरों के उप कप्तान रोहित शर्मा के आगामी टेस्ट सीरीज के लिए इंग्लैंड दौरे पर होने के कारण शिखर धवन की अगुआई में कम अनुभवी टीम को श्रीलंका भेजा है। इसमें छह खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला है।
दो साल पहले तक सरकार में मंत्री रहे पूर्व कप्तान रणतुंगा ने अपने आवास पर पत्रकारों से कहा, ‘यह दूसरी श्रेणी की भारतीय टीम है और उनका यहां आना हमारी क्रिकेट का अपमान है। मैं टेलीविजन मार्केटिंग की जरूरतों को पूरा करने के लिए उनके साथ खेलने पर सहमत होने के लिए वर्तमान प्रशासन को दोषी मानता हूं।’
श्रीलंका की 1996 की विश्व कप विजेता टीम के कप्तान ने कहा, ‘ भारत ने अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम इंग्लैंड भेजी है और कमजोर टीम यहां भेज दी है। मैं इसके लिए बोर्ड को दोष देता हूं।’
भारतीय टीम ने अभी अनिवार्य क्वारंटीन पूरा किया है और वह पहला वनडे 13 जुलाई को खेलेगी। पूर्व भारतीय कप्तान और वर्तमान में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख राहुल द्रविड़ टीम के मुख्य कोच हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *