समूचे उत्तर भारत को बेहाल कर सकता है पाकिस्‍तान से उठा धूल का तूफान

नई दिल्‍ली। दिल्ली समेत प्रचंड गर्मी से जूझ रहे उत्तर भारत में अगले दो दिन और आफत आ सकती है। पाकिस्तान की ओर से धूल भरी आंधी भारत की ओर बढ़ रही है, जिस कारण लोगों के लिए सांस लेना भी मुश्किल हो सकता है।
मौसम पूर्वानुमान और ‘एयर क्वालिटी’ बताने वाली केंद्र सरकार की संस्था ‘सफर इंडिया’ की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान और अफगानिस्तान से उठा धूल का एक बड़ा तूफान दिल्ली-एनसीआर सहित समूचे उत्तर भारत को बेहाल कर सकता है।
मंगलवार की देर रात जारी अलर्ट के बाद केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड वायुमंडल पर नजर रखे हुए है।
पाकिस्तान और अफगानिस्तान से जो धूल भरी आंधी भारत की ओर बढ़ रही है, वह राजस्थान होते हुए देश में प्रवेश करेगी। इस तूफान को राजस्थान के थार रेगिस्तान की धूल और गंभीर बनाएगी। सफर इंडिया के अलर्ट के अनुसार उत्तर भारत, खासकर दिल्ली में वायु गुणवत्ता (एयर क्वालिटी) काफी गिरने की आशंका है।
धूल भरी आंधी से पीएम 2.5 और पीएम 10 दोनों की मात्रा बढ़ेगी। लिहाजा सांस की बीमारी से जूझ रहे मरीजों को सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। इसके कारण इस भीषण गर्मी में भी लोगों को मास्क पहनना पड़ सकता है।
दिल्ली-एनसीआर का एयर इंडेक्स बेहद खराब
दिल्ली में एयर क्वालिटी का स्तर गिरता रहता है। सफर इंडिया के अनुसार मंगलवार देर शाम भी दिल्ली का एयर इंडेक्स 387 पहुंच गया, जो बेहद खराब श्रेणी में आता है। गर्मी के दौरान इतना अधिक प्रदूषण स्तर पहली बार दर्ज हुआ है। वहीं, एनसीआर में सबसे अधिक प्रदूषित शहर ग्रेटर नोएडा रहा, जहां एयर इंडेक्स 353 था। साथ ही पीएम 10 का स्तर सामान्य से चार गुना और पीएम 2.5 का स्तर सामान्य से दो गुना तक अधिक रहा।
सफर इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के कुछ हिस्से इस धूल भरी आंधी की चपेट में हैं। परियोजना निदेशक डॉ. गुफरान बेग का कहना है कि मंगलवार को पाकिस्तान के कराची और अफगानिस्तान के सिस्तान बेसिन शहर में धूल भरी आंधी उठी है। यह आंधी तेजी से भारत की ओर बढ़ रही है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि यह आंधी उत्तर भारत के ज्यादातर हिस्सों को अपनी चपेट में ले सकता है।
चक्रवाती तूफान ‘वायु’ का भी कहर
देश का एक हिस्सा पहले ही चक्रवाती तूफान ‘वायु’ के संभावित कहर से चिंतित है। ऐसे में पाकिस्तान से आ रही धूल भरी आंधी लोगों की चिंता बढ़ा सकती है। मालूम हो कि अरब सागर में हवा के कम दबाव की स्थिति गहराने के कारण उत्पन्न चक्रवाती तूफान ‘वायु’ के 13 जून को गुजरात पहुंचने की आशंका हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटे में तूफान गंभीर रूप ले सकता है। इस दौरान हवा की रफ्तार 160 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंचने की उम्मीद है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »