केन्‍द्र ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, लोकसभा में विपक्ष का नेता न होने के कारण लोकपाल की नियुक्ति संभव नहीं

The Center told the Supreme Court, it is not possible to appoint Lokpal due to lack of leader of the opposition in the Lok Sabha
केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से कहा, लोकसभा में विपक्ष का नेता न होने के कारण लोकपाल की नियुक्ति संभव नहीं

नई दिल्‍ली। केन्द्र सरकार ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि मौजूदा समय में लोकपाल की नियुक्ति करना संभव नहीं है।
दरअसल, शीर्ष न्यायालय ने लोकपाल मामले की नियुक्ति को लेकर एक एनजीओ कॉमन कॉज की याचिका पर सुनवाई पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया है।
सुप्रीम कोर्ट में अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा कि वर्तमान समय में लोकसभा में विपक्ष का नेता कोई नहीं है। कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे को लोकसभा में विपक्ष के नेता के रूप में मानने से इंकार कर दिया है। ऐसी स्थिति में लोकपाल की नियुक्ति संभव नहीं है। हालांकि रोहतगी ने कहा कि संसद के मौजूदा सत्र में बजट सरकार की प्रथामिकता थी, लोकपाल बिल संभवत: मानसून सत्र में पेश किया जा सकता है। याचिकाकर्ता की ओर से वरिष्ठ वकील शांति भूषण सरकार के इस तर्क से असहमत थे।
सुप्रीम कोर्ट लोकपाल और लोकायुक्त अधिनियम 2013 के तहत तैयार किए गए संशोधित नियमों के अनुसार लोकपाल के अध्यक्ष और सदस्यों की नियुक्ति के संबंध में एनजीओ ने याचिका डाली थी।
Central Government told Supreme Court that in the current scenario, the appointment of Lokpal is impossible
—ANI (@ANI_news) March 28, 2017
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *