मेरठ: शहीद मेजर Ketan Sharma को श्रद्धांजलि देने उमड़ी भीड़

नई दिल्‍ली। दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले के अच्छाबल इलाके में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुए क्रांतिधरा के लाल Ketan Sharma का पार्थिव शरीर मेरठ पहुंच गया है। इस दौरान शहीद मेजर की एक झलक पाने के लिए लोगों की भारी भीड़ लग गई। वहीं शहीद मेजर Ketan Sharma को सेना के जवानों द्वारा सलामी दी गई। कुछ देर बाद सूरजकुंड पर अंतिम संस्कार किया जाएगा।
बता दें कि शहीद केतन की मां का रो-रोकर बुरा हाल है। वे रोते हुए अफसरों से कह रही है कि मेरा शेर लौटा दो। उधर, बिलखते हुए पिता कह रहे हैं कि अब क्या होगा। इस दौरान सेना के अफसरों ने शहीद केतन शर्मा के परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी। प्रदेश सरकार के मंत्री सुरेश राणा भी शहीद के घर पहुंचे हैं।

अच्छाबल के बिडूरा गांव में रविवार देर रात सुरक्षाबलों को दो से तीन आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। सेना की 19 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), सीआरपीएफ और पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवानों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया था। इस दौरान सोमवार तड़के आतंकियों के साथ मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान सेना के मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए थे।

शहीद मेजर के घर में मचा कोहराम
शहीद मेजर केतन शर्मा कंकरखेड़ा मेरठ के श्रद्धापुरी फेस-2 निवासी थे। वह परिवार में इकलौते पुत्र थे। एक बहन है। मेजर की शादी 2012 में हुई थी। उनकी पत्नी ईरा का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं पांच वर्ष की मासूम बेटी को तो यह भी नहीं पता कि मेरे पापा उसे छोड़कर कहां चले गए। मेजर केतन शर्मा की शहादत की सूचना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।

शहीद मेजर के पिता रविंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि 20 दिन पहले ही 27 मई को वह अवकाश से ड्यूटी पर लौटे थे।

वहीं सोमवार शाम को भी डीएम अनिल ढींगरा, भाजपा विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल और शहर के गणमान्य लोग शहीद के घर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने परिजनों को ढांढस बंधाया।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »