Oak education का पुरुस्कार वितरण हुआ सम्पन्न

मथुरा। Oak education के तत्वाधान में 8 जुलाई को आयोजित हुई ‘‘अबेकस चैम्पियनशिप’’ का परिणाम रविवार 29 जुलाई को सुबह 11 बजे से भूतेश्‍वर रोड स्थित होटल गणपति पैलेस में आयोजित सम्मान समारोह में घोषित किया गया तथा उम्दा प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया।

Oak education के आख्या और प्रांजल बने ‘‘अबेकस स्पीड चैम्पियन
आंचल, आदित्य और षोभित भी बने चैम्पियन
बंद आँखों से अखबार पढ़ दर्जनों बच्चों ने दर्षकों को किया हैरान

सर्वश्रेश्ठ प्रदर्शन के लिए आख्या अग्रवाल और प्रांजल अग्रवाल को ‘अबेकस स्पीड चैम्पियन’’ अवार्ड मिला जबकि आंचल, आदित्य और शोभित को चैम्पियन का दर्जा मिला। आशीष, अर्नव, जयति, आयुष और वान्या ने ‘‘सुपर पर्फामैन्स अवार्ड’’ हासिल किया।

मुख्य अतिथि पद्मश्री मोहन स्वरुप भटिया जी ने सभी बच्चों को आषीर्वाद के साथ ही ट्राफी व प्रमाण-पत्र दे कर सम्मानित किया।
इसी कार्यक्रम में अद्भुत शारीरिक व मानसिक क्षमताएँ हासिल कर चुके संस्थान के छात्र-छात्राओं ने अपनी प्रतिभाओं का प्रदर्षन भी किया। प्रणित जैन, लक्षिता गौतम, मुकुल अग्रवाल और हर्श कुमार सिंह सहित अनेकों बच्चों ने अबेकस के बूते कठिन सवालों को मौखिक हल कर दर्षकों की तालियां बटोरीं।

मैमोरी क्लास के बूते पीरियाडिक टेबल के अनेकों तत्वों के परमाणु क्रमांक याद कर सुनाने का कारनामा प्रषंसा चैहान ने कर दिखाया। मन्नत, चित्रांगदा, कुणाल, अजय, विजय, गजेन्द्र, प्रगति और रिनी ने मार्षल आर्टस के बूते जानलेवा हमलावरों का मुकाबला कर दिखाने की कला दिखा कर सभी को रोमांचित कर दिया।

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रहे पीनियल ग्लैन्ड एक्टिवेशन के बूते आँखों पर पट्टी बाँध कर मोबाइल फोन पर संदेष पढ़ लेने, किसी भी चीज का रंग और आकृति बता देने और अखबार पढ़ लेने जैसे कारनामे दिखाने वाले गर्व, वंष, कनिश्क, वृंदा, अंबिका, प्रखर, रिशिमा, अनुश्का, नरुन, टिया, चेतस और कृशिव जैसे दर्जनों बच्चे जिनकी ज्ञानेन्द्रियां किसी भी सामान्य मनुश्य के मुकाबले कहीं अधिक सक्रिय हो चुकी हैं।

इन बच्चों के कारनामे को देख कर हाॅल में मौजूद सैंकड़ों दर्षक दांतों तले उंगलियां दबा गए।

इस कार्यक्रम में बच्चों के व्यक्तित्व व व्यवहार पर विशेष चर्चा भी आयोजित हुई। संस्थान की संचालिका हेमा जोषी व मुख्य प्रशिक्षक सौरभ चतुर्वेदी ने सभी आगंतुकों को धन्यवाद ज्ञापित किया।

Oak education  के  कार्यक्रम को सफल बनाने में गीता जोषी, मुनेष षर्मा, रवि षर्मा, योगेष सिंह, योगेष षर्मा, आषू, ममता, षिवम, सुनील षर्मा व अदिति का विषेश योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »