F-16 को देखते ही अभिनंदन ने कहा था, यह मेरा शिकार है

नई दिल्ली। विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान बुधवार सुबह अपनी MiG-21 फाइटर जेट में 15 हजार फीट की ऊंचाई पर थे, जब उन्होंने पाकिस्तानी एयर फोर्स की F-16 प्लेन को देखा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी प्लेन तब 8 हजार फीट की ऊंचाई पर नौशेरा सेक्टर में दाखिल हो चुका था। ‘इसे मैं खदेड़ता हूं, यह मेरा शिकार है’, विंग कमांडर अभिनंदन ने यह मेसेज भारतीय आसमान की निगरानी कर रहे अपने साथियों को सिक्यॉर रेडियो के जरिए भेजा। इसके साथ ही 86 सेकेंड्स का वह नजदीकी मुकाबला शुरू हुआ, जिसे ‘डॉग फाइट’ नाम से जाना जाता है। पीछा करने की रफ्तार उस वक्त हवा में हर चार सेकंड में 1 किलोमीटर और एक घंटे में 900 किमी थी। यह आगे-पीछे चलने का खेल 26 हजार फीट की ऊंचाई छू गया। ऊपर-नीचे जाते दोनों पायलट एक-दूसरे की आंख में आंख डालकर लड़ रहे थे। अंत में अभिनंदन ने एक मिसाइल दाग पाकिस्तान के F-16 को नष्ट कर दिया।
इसी दौरान हवा में तबाही मचाने वाला R-73 मिसाइल विंग कमांडर अभिनंदन ने दागा जबकि 60 डिग्री के मारक एंगल से इस भिड़ंत का लाभ उठा कर दूसरे पाकिस्तानी प्लेन ने अभिनंदन के MiG-21 पर फायर किया। अभिनंदन के दूसरे साथी इस दौरान सुखोई-30 MKI और मिराज-2000 के जरिए पाकिस्तान के एफ-16 को खदेड़ रहे थे। अभिनंदन को लग गया कि उनका प्लेन बचेगा नहीं। वह पैराशूट के सहारे उससे फुर्ती से निकले। हवा का बहाव उन्हें करीब 7 किलोमीटर पाकिस्तानी सीमा के अंदर ले आया। इसके बाद विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तान के स्थानीय लोगों और बाद में सेना की पकड़ में आए।
गौरतलब है कि विंग कमांडर अभिनंदन शुक्रवार की रात 9.25 मिनट पर अटारी बॉर्डर से भारत वापस लौटे थे। अभिनंदन की वापसी पर पूरे देश में जश्न का माहौल था। बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने आतंकवादियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करते हुए पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर बमबारी की थी। भारत के मिराज 2000 लड़ाकू विमानों द्वारा किए गए हमले में सैकड़ों आतंकवादियों के मारे जाने की खबरें हैं। इस हमले के बाद पाकिस्तान ने भारतीय सीमा में घुसने की हिमाकत की थी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *