पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के तौर पर शॉर्ट-लिस्ट हो चुका था मुठभेड़ में मारा गया आतंकी

श्रीनगर। वह इंजिनियरिंग कर चुका था और कश्मीर प्रशासनिक सेवाओं की तैयारी कर रहा था लेकिन आतंकी बन गया और मुठभेड़ में मारा गया।
मंगलवार को उसका नाम जम्मू-कश्मीर पुलिस में सब-इंस्पेक्टर (एसआई) के तौर पर शॉर्ट-लिस्ट हो चुका था। तीन अगस्त को बारामूला में सुरक्षा बलों के साथ एनकाउंटर में मारा गया।
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को 2,060 चुने गए सब-इंस्पेक्टरों की लिस्ट जारी की। इसमें 1913 रोल नम्बर वाले खुर्शीद अहमद मलिक का नाम शामिल है। वह पुलवामा जिले के अराबल गांव का निवासी था। मलिक को इसके लिए इंटरव्यू देना था, लेकिन इसी बीच उसने आतंकी संगठन ज्‍वाइन कर लिया।
फिर तीन अगस्त को आतंकियों से हाथ मिलाने के 48 घंटे के अंदर ही बारामुला जिले में सोपोर में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। उसके परिवारीजनों ने उससे लौट आने और बाद में सरेंडर की अपील की थी, लेकिन वह नहीं माना। खुर्शीद ने कटरा स्थित श्री माता वैष्णो देवी यूनिवर्सिटी (एसएमवीडीयू) से हाल ही में बीटेक पूरा किया था और गेट की परीक्षा की पास कर ली थी।
परिवार के सूत्रों के अनुसार वह संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा में शामिल होने के लिए घर से निकला था और तब से गायब हो गया। घर से गायब होने के 48 घंटे बाद उसे सोपोर में सुरक्षाबलों ने घेर लिया था। जैसे ही परिवार को पता चला तो उन्होंने खुर्शीद से वापस लौट आने और बाद में सरेंडर कर वापस लौटने के लिए कहा।
इस मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) आतंकी संगठन चिंकीपोरा सोपोर निवासी मलिक के साथ रियाज अहमद डार भी मारा गया था। इनके अलावा एक आर्मी जवान सवर विजय कुमार आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए थे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »