तटीय इलाकों पर हमला कर सकते हैं पड़ोसी देश के Terrorists: राजनाथ सिंह

कोल्लम। कोल्लम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पड़ोसी देश के Terrorists हमारी तट पर एक बड़ी घटना को अंजाम दे सकते हैं, जो कच्छ से केरल तक फैली हुई है। हालांकि, हम तटीय और समुद्री सुरक्षा के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं।

Defence Min Rajnath Singh in Kollam, Kerala Terrorists from neighboring country can attack coastal areas
Defence Min Rajnath Singh in Kollam, Kerala Terrorists from neighboring country can attack coastal areas

राजनाथ सिंह ने केरल के कोल्लम में माता अमृतानंदमयी देवी के 66वें जन्मदिवस समारोह में पाकिस्‍तान को चेतावनी देते हुए कहा कि हम किसी को परेशान नहीं करते हैं, लेकिन अगर कोई हमें परेशान करता है, तो हम उसे शांति से नहीं रहने देंगे। उन्होंने कहा कि भारत ने पुलवामा हमले का जवाब बालाकोट में वायुसेना के हमले से दिया।

पुलवामा का बदला बालाकोट से

राजनाथ सिंह ने कहा कि जब वे गृह मंत्री थे, तब पुलवामा की घटना हुई थी और देश में कोई भी उन सैनिकों के बलिदान को नहीं भूल पाएगा, जो इस घटना में शहीद हुए थे। उन्होंने कहा आप जानते हैं कि पुलवामा की घटना के कुछ दिनों के बाद हमारी वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में हवाई हमला किया। हम किसी को परेशान नहीं करते हैं, लेकिन अगर कोई हमें परेशान करता है, तो हम उन्हें शांति से नहीं रहने देंगे।

सैनिकों के बलिदान को याद रखें

रक्षा मंत्री ने कहा कि जो देश अपने सैनिकों के बलिदान को याद नहीं करता है, उसको दुनिया में कहीं भी सम्मान नहीं मिल सकता। उन्होंने यह भी कहा कि यह न भूलें कि जो सैनिक देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देते हैं उनके माता-पिता भी होते हैं। हमें उनके परिवार के साथ खड़ा होना चाहिए और शहीदों के बलिदान का सम्मान करना चाहिए।

INS खांदेरी को नौसेना में शामिल करेंगे रक्षा मंत्री

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को मुंबई में कलवारी श्रेणी की दूसरी पनडुब्बी आइएनएस खांदेरी (INS Khanderi) को नौसेना में शामिल करेंगे।

INS खंडेरी के कमांडिंग ऑफिसर कैप्टन दलबीर सिंह ने बताया कि मैं पनडुब्बी के प्रदर्शन से बिल्कुल संतुष्ट हूं। इस पनडुब्बी के सभी परीक्षणों के परिणाम हमारी उम्मीद से बेहतर थे।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *