फिर गिरफ्तार किया जा सकता है आतंकी सरगना हाफिज सईद

लश्कर-ए-तैयबा का सरगना हाफिज सईद फिर गिरफ्तार किया जा सकता है। 2008 के मुंबई हमले के आरोपी और लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद की रिहाई पर भारत और अमेरिका ने कड़ा ऐतराज जताया है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि पाकिस्तान सरकार एक बार फिर हाफिज को हिरासत में ले सकती है। हाफिज की रिहाई पर भारत ने पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए गुरुवार को कहा कि पाक ऐसा करके प्रतिबंधित आतंकवादियों को मुख्यधारा में लाने की कोशिश कर रहा है।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को कहा कि हाफिज सईद की रिहाई से यह पता चलता है कि आतंक फैलाने के दोषियों को सजा दिलाने के प्रति पाकिस्तान में गंभीरता की कितनी कमी है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सिस्टम प्रतिबंधित आतंकवादियों को मुख्यधारा में लाना चाहता है। भारत इस बात से सख्त नाराज है कि खुद को आतंकवादी मानने वाले और संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित आतंकवादी को यूं रिहाई दे दी गई।
अमेरिका के आतंकवाद विरोधी शीर्ष जानकार और दक्षिण एशिया मामलों के विशेषज्ञों ने हाफिज को रिहा किए जाने की आलोचना करते हुए कहा कि पाकिस्तान का प्रमुख गैर नाटो सहयोगी का दर्जा रद्द करने का वक्त आ गया है। एक वरिष्ठ विशेषज्ञ ब्रूस रीडल ने कहा, मुंबई में 26/11 हमले के नौ साल बीत गए लेकिन अब तक इसका मास्टरमाइंड न्याय के घेरे से बाहर है। पाकिस्तान का प्रमुख गैरनाटो सहयोगी का दर्जा रद्द करने का वक्त आ गया है। अमेरिका सहित अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की ओर से बढ़ रहे दबाव से घबराया पाकिस्तान अब एक बार फिर हाफिज को किसी दूसरे केस में हिरासत में लिए जाने पर विचार कर रहा है।
सूत्रों की मानें तो सईद पर अब दोबारा कानून का शिकंजा तभी कसा जा सकता है जब पाकिस्तान की सरकार उसके खिलाफ किसी दूसरे केस में कार्यवाही करे। पाकिस्तान ने पहले ही आशंका जताई थी कि हाफिज सईद की रिहाई से अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी द्वारा उस पर प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। शायद इसी कारण अब पाकिस्तान काफी डरा हुआ है और किसी दूसरे केस में हाफिज को हिरासत में लेने पर विचार कर रहा है।
हाफिज ने फिर भारत के खिलाफ उगला जहर
हाफिज सईद ने रिहाई के आदेश के बाद ही भारत के खिलाफ जहर उगला दिया। हाफिज सईद ने एक वीडियो संदेश में कहा कि भारत मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकता। साथ ही उसने कहा कि मेरी रिहाई से भारत की किरकिरी हुई है, कश्मीर आजाद होकर रहेगा। हाफिज सईद ने कहा कि हुकूमत और सरकार के अधिकारी सब आकर कह रहे थे कि इसको रिहा नहीं करना लेकिन जजों ने उनकी बात ना सुनकर मेरी रिहाई का हुकुम दिया। हाफिज सईद ने खुद की रिहाई को पाकिस्तान की आजादी की जीत बताते हुए कहा कि इंशाल्लाह कश्मीर भी आजाद होकर रहेगा। हाफिज सईद ने कहा कि मैं कश्मीर के लिए लड रहा हूं और इसी वजह से भारत मेरे पीछे पड़ा हुआ है। साथ ही उसने कहा कि भारत की सभी कोशिशें बेकार हो गई और अल्लाह ने मुझे रिहाई दी। साथ ही उसने वीडियो में कहा कि मैं अल्लाह से दुआ करता हूं कि अल्लाह इसमें बरकत अता फरमाए और इस मुल्क की आजादी और कश्मीर की आजादी की खातिर हम भरपूर किरदार अदा करें।
कोर्ट ने दिया था नजरबंदी हटाने का आदेश
आपको बता दें कि पाकिस्तान की एक अदालत ने बुधवार को हाफिज सईद पर लगी नजरबंदी को हटाने का आदेश दिया था। इस साल जनवरी में हाफिज सईद की नजरबंदी शुरू हुई थी। इससे पहले की अदालती सुनवाई के दौरान पंजाब गृह विभाग ने दलील दी थी कि अगर उसे रिहा किया गया तो लोगों की सुरक्षा और सार्वनिक व्यवस्था के लिए गंभीर खतरा पैदा हो सकता है। सईद पर 2008 के मुंबई हमले की साजिश रचने का आरोप है, जिसमें 166 भारतीय और विदेशी नागरिकों की मौत हो गई थी। भारत लगातार पाकिस्तान से नरसंहार के आरोपी को सजा देने का आग्रह करता रहा है।
-एजेंसी