Anantnag में पुलिस चौकी पर आतंकी हमला, 3 जवानों सहित 6 घायल

अनंतनाग। जम्‍मू कश्‍मीर राज्‍य के Anantnag जिले में आज गुरुवार को आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाकर ग्रेनेड हमला किया। दक्षिणी कश्मीर के इस हमले में सीआरपीएफ का 3 जवान व 3 नागरिक घायल हो गए। घटना के बाद Anantnag के इस पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया गया। यह दक्षिणी कश्मीर में दूसरे दिन लगातार दूसरा हमला है।

जिले के शीरबाग पुलिस पोस्ट के पास वीरवार को आतंकियों ने ग्रेनेड दागा। ग्रेनेड सड़क पर गिरकर फटा। इसमें सीआरपीएफ का तीन जवान व तीन महिला राहगीर समेत छह लोग घायल हो गए। सभी को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है।

वारदात को अंजाम देने के बाद आतंकी मौके से फरार हो गए। हमले के बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है। बीते दिनों में घाटी में आतंकी हमलों में इजाफा हुआ है। शोपियां में रविवार को आतंकियों ने 44 राष्ट्रीय राइफल्स के कैंप पर हमला कर दिया। हमले में किसी भी प्रकार का जान-माल का नुकसान नहीं हुआ। गणतंत्र दिवस के एक दिन पहले भी पुलवामा और अनंतनाग में ग्रेनेड हमले किए गए थे।

इससे पहले बीते मंगलवार को शोपियां में ही जैनापोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को मार गिराया था। पिछले हफ्ते सोमवार को आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर बडगाम में ओपन फायरिंग की थी और जवाबी फायरिंग में दो आतंकी मारे गए थे। वहीं, 18 जनवरी को तीन ग्रेनेड हमले भी घाटी में किए गए थे। श्रीनगर के लाल चौक, शोपियां के गगरां और पुलवामा में हमले किए गए। हालांकि, इन घटनाओं में किसी के घायल होने की खबर नहीं थी लेकिन CRPF बंकर, गाड़ियों और दुकानों को नुकसान पहुंचा था।

ज्ञात हो कि बुधवार को दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम के दमहाल हांजीपोरा इलाके में आतंकियों ने पुलिस की नाका पार्टी पर ग्रेनेड हमला किया था। इसमें छह लोग जख्मी हुए थे।

घाटी में पिछले कुछ दिनों से ग्रेनेड हमलों में तेजी आई है। आतंकियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर कई स्थानों पर हमले किए। खासकर गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या से हमले बढ़े हैं। बताते हैं कि 25 जनवरी से अब तक 20 से अधिक ग्रेनेड हमले हो चुके हैं। ज्यादातर हमलों की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली है।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *